अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सर्वकालीन विश्व टेस्ट एकादश में सचिन तेंदुलकर

सर्वकालीन विश्व टेस्ट एकादश में सचिन तेंदुलकर

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर को क्रिकइंफो की सर्वकालीन विश्व टेस्ट एकादश में शामिल किया गया है। सचिन इस टीम में शामिल होने वाले एकमात्र मौजूदा खिलाडी़ हैं।

भारत के महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर, वेस्टइंडीज़ के ब्रायन लारा, ऑस्ट्रेलिया के कप्तान रिकी पोंटिंग और दिग्गज तेज़ गेंदबाज़ ग्लैन मैकग्रा इस टीम में जगह पाने में नाकाम रहे हैं। सचिन को इस टीम में चौथे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए चुना गया है।

टीम में सर्वकालीन महानतम बल्लेबाज ऑस्ट्रेलिया के डॉन ब्रैडमैन, वेस्टइंडीज़ के विवियन रिचर्ड्स और गैरी सोबर्स तथा ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज लेग स्पिनर शेन वॉर्न को जगह मिली है। सर्वकालीन विश्व टेस्ट एकादश में ऑस्ट्रेलिया और वेस्ट इंडीज़ का बोलबाला है। टीम के अन्य खिलाड़ियों में जैक हाब्स, लेन हटन, एडम गिलक्रिस्ट, मैल्कम मार्शल, वसीम अकरम और डेनिस लिली शामिल हैं।

गावस्कर और लारा को दूसरी विश्व टेस्ट एकादश में जगह मिली है। इस टीम में उनके अलावा बैरी रिचर्ड्स, जॉर्ज हैडली, वैली हैमंड, इमरान खान, एलन नॉट, बिल ओ रैली, फ्रैड ट्रूमैन, मुथैया मुरलीधरन और एसएफ बारनेस को जगह मिली है।
 पोटिंग, मैकग्रा और भारत की विश्वविजेता टीम के कप्तान तथा महान ऑलराउंडर कपिल देव को दोनों टीमों में स्थान नहीं मिला है।

सर्वकालीन विश्व टेस्ट एकादश टीमों का चयन करने वाली जूरी में टेस्ट खेलने वाली शीर्ष टीमों के एक पूर्व कप्तान को शामिल किया गया था। इयान चैपल, क्लाइव लायड, टोनी ग्रेग, दिलीप मेंडिस, अली बाकर, इंतिखाब आलम, जॉन राइट और अजीत वाडेकर के साथ-साथ क्रिकेट के चार इतिहासकारों और लेखकों को भी जूरी में शामिल किया गया था।

सर्वकालीन विश्व टेस्ट एकादश में जगह बनाने वाले खिलाड़ियों में वॉर्न, गिलक्रिस्ट और अकरम पिछले दो दशक में सक्रिय रहे थे। टीम में शामिल खिलाड़ियों में से सात ने 1970 के बाद अपना टेस्ट करियर शुरू किया था। ऑस्ट्रेलिया के चार, वेस्ट इंडीज़ के तीन, इंग्लैंड के दो तथा भारत और पाकिस्तान के एक-एक खिलाडी़ को इस टीम में जगह मिली है।

12 सदस्यीय जूरी के हर सदस्य को दोनों टीमों के लिए अपनी पसंद चुनने को कहा गया था। ब्रैडमैन, सोबर्स और वॉर्न को सभी सदस्यों ने चुना और उन्हें अधिकतम 60 अंक हासिल हुए। सचिन अंकों के मामले में दूसरे स्थान पर रहे और उन्हें 51 अंक मिले।

लेकिन सबसे अधिक आश्चर्य वार्न और टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक विकेट लेने वाले श्रीलंका के दिग्गज आफ स्पिनर मुरलीधरन के बीच अंकों के फासले का रहा। मुरलीधन केवल 34 अंक ही हासिल कर पाए और उन्हें दूसरी सर्वकालीन टेस्ट एकादश में जगह मिली।

ओपनरों और नंबर पांच बल्लेबाज के चयन में बेहद करीबी मुकाबला रहा। ओपनिंग में गावस्कर मात्र एक अंक से हाब्स से पीछे रह गए, जबकि पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी के लिए हैडली को रिचर्ड्स से दो अंक कम मिले।
 हटन को 47 अंक मिले और वह हाब्स के साथ ओपनिंग के लिए उपयुक्त पाए गए।

तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए ब्रैडमैन को सर्वसम्मति से चुना गया। चौथे, पांचवें और छठे नंबर के लिए क्रमश: सचिन, रिचर्ड्स और सोबर्स को जूरी ने चुना। ऑलराउंडर के लिए सोबर्स के साथ कोई मुकाबले में नहीं था, लेकिन कीथ मिलर बेहद करीबी अंतर से इमरान से बाजी मार ले गए।

विकेटकीपिंग के लिए गिलक्रिस्ट ने एलन नॉट को आठ अंकों से पछाड़ते हुए टीम में जगह बनाई। श्रीलंका के विकेटकीपर बल्लेबाज कुमार संगकारा को नौ अंक मिले। गेंदबाजी में हालांकि मुकाबला काफी आसान रहा। डेनिस लिली को 48 अंक मिले। लिली के अलावा वसीम अकरम और मैल्कम मार्शल तेज़ गेंदबाज़ी के लिए चुने गए, जबकि स्पिन विभाग वॉर्न के पास गया। सोबर्स को भी लेफ्ट आर्म स्पिन और चाइनामैन गेंदबाजी में महारत हासिल है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सर्वकालीन विश्व टेस्ट एकादश में सचिन तेंदुलकर