अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चुनाव बहिष्कार की धमकी को मतदाताओं ने नकारा, 53 प्रतिशत मतदान

बिहार विधानसभा के चुनाव में कुल 243 सीटों में से दूसरे चरण में उत्तरी बिहार की 45 सीटों के लिए 52.55 प्रतिशत लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। वायुसेना के हेलीकॉप्टर की निगरानी तथा अर्ध सैनिक बलों की अभूतपूर्व सुरक्षा व्यवस्था के बीच सम्पन्न मतदान में मतदाताओं के उत्साह के समक्ष माओवादियों के चुनाव बहिष्कार की धमकी बेअसर साबित हुई। दूसरे चरण में 623 प्रत्याशी चुनाव किस्मत आजमा रहे हैं। मतदान प्रक्रिया में बाधा डालने के आरोप में 139 लोगों को गिरफ्तार किया गया।

राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी सुधीर कुमार राकेश और पुलिस महानिदेशक नीलमणि ने मतदान समाप्त होने के बाद अलग-अलग संवाददाता सम्मेलन में कहा कि दूसरे चरण का मतदान पूरी तरह से शांतिपूर्ण रहा और इस दौरान 52.55 प्रतिशत वोटरों ने मतदान में हिस्सा लिया। इस दौरान दरभंगा जिले के अलीनगर विधानसभा के 140, 141, समस्तीपुर जिले के रोसड़ (सुरक्षित) के 99, 109, 110 एवं सीतामढ़ी के 228 मतदान केन्द्रों पर विकास कायों के नहीं होने को लेकर स्थानीय लोगों ने मतदान का बहिष्कार किया।

राकेश और नीलमणि ने बताया कि सीतामढ़ी जिले के रून्नीसैदपुर विधानसभा क्षेत्र के मतदान केन्द्र संख्या 116 पर कल रात माओवादियों ने हमला किया और चुनाव से संबंधित दस्तावेजों में आग लगा कर नष्ट कर दिया। मतदाकर्मी बगैर सुरक्षाबल के ही उक्त केन्द्र पर चले गए थे। इस घटना के बाद से पीठासीन पदाधिकारी बालदेव यादव, मतदान पदाधिकारी (प्रथम) सतेन्द्र पटेल और मतदान पदाधिकारी (तृतीय) कृष्णनंदन प्रसाद लापता है और उनकी तलाश में पुलिस की टीम संभावित ठिकानों पर छापेमारी कर रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चुनाव बहिष्कार की धमकी को मतदाताओं ने नकारा