DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दबंग फर्जी दरोगा चुलबुल पाण्डेय गिरफ्त में

कर्नलगंज पुलिस ने शनिवार को फर्जी दरोगा को गिरफ्तार कर लिया। गाजीपुर का रहने वाला शातिर बाकायदा खाकी वर्दी, बेल्ट, आईकार्ड और रिवाल्वर कवर के साथ दुकानदारों को धमका कर वसूली कर रहा था। खुद को पुलिस मुख्यालय में तैनात दरोगा बताकर वह अब तक कइयों को चूना लगा चुका है। लंबे समय से दरोगा बन दादागीरी करने वाला पुनीत कुमार सिंह सलमान खान की फिल्म दबंग देखने के बाद चुलबुल पाण्डेय बन गया। उसने अपने नाम के आगे उर्फ चुलबुल पाण्डेय बोलना शुरू कर दिया था। काफी दिनों से मिल रही शिकायतों के बाद शनिवार को पुलिस टीम ने इस दबंग को दबोच लिया।
सलोरी, कटरा व अन्य इलाकों में छोटे-छोटे दुकानदारों से एक दरोगा के वसूली करने की शिकायत इंस्पेक्टर कर्नलगंज आरके सिंह को मिल रही थी। शनिवार को सटीक सूचना पर चौकी प्रभारी साजिद अली ने सलोरी के एक होटल से बावर्दी फर्जी दरोगा को दबोच लिया। कई दिनों से खाना और नाश्ता करने के बाद फर्जी दरोगा पैसे देने से इंकार कर रहा था। पकड़ा गया शख्स 23 वर्षीय पुनीत कुमार सिंह उर्फ चुलबुल पाण्डेय उर्फ संजय है। वह अपने पिता का नाम राम नाथ उर्फ किशुन सिंह निवासी घरिया थाना मरदा गाजीपुर बता रहा है। इंस्पेक्टर आरके सिंह के मुताबिक, पुनीत ईश्वर शरण डिग्री कालेज के छात्रों के साथ सलोरी के एक कमरे में ठहरा था। उसके पास से खाकी वर्दी, फर्जी आईकार्ड, बेल्ट, बैज, जूता-मोजा और रिवाल्वर का केस तथा डोरी मिली है। पुनीत फर्जी दरोगा बन कई दुकानदारों से वसूली कर चुका है। वह खुद को पीएचक्यू में तैनात दरोगा बताता था और भर्ती के नाम पर भी ठगी करता था। उससे पूछताछ की जा रही है। पुनीत के खिलाफ धारा 170, 171 तथा 417 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

एक नहीं तीन वर्दी
खुद को दबंग के चुलबुल पाण्डेय कहने वाले फर्जी दरोगा पुनीत सिंह के पास से एक नहीं तीन वर्दी मिली है। मनमोहन पार्क कटरा के पास स्थित किंग टेलर से उसने वर्दी सिलाई और दबाव देकर महज चार सौ रुपये दिए। एक पुरानी वर्दी उसके कमरे से मिली है। तीसरी वर्दी उसने जाड़े के लिए रामा टेलर्स के यहाँ दी हुई थी।

मोबाइल और डायरी में अफसरों के नंबर
फर्जी दरोगा बने पुनीत के पास मिले दो मोबाइलों में आईजी, डीएम, डीआईजी समेत प्रदेश के कई अफसरों के नंबर दर्ज हैं। डायरी में भी उसने बड़े अधिकारियों और नेताओं के नंबर लिखे हुए हैं। इंटर पास पुनीत ने सिपाही भर्ती परीक्षा भी दी थी। सेलेक्शन न होने पर वह फर्जी दरोगा बन गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दबंग फर्जी दरोगा चुलबुल पाण्डेय गिरफ्त में