DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिव्या के परिजनों की मदद को आगे आए लोग

शहर के प्रथम नागरिक, समाजसेवी संस्था, व्यापारी संगठन जैसे तमाम लोगों ने दिव्या के परिजनों की मदद के लिए अपने हाथ बढ़ाए हैं। साथ ही दिव्या काण्ड की सीबीआई जाँच की माँग भी की है।

शनिवार को मासूम दिव्या की आत्मा की शान्ति के लिए अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मण्डल किदवई नगर में शान्ति सभा हुई। इसमें दिव्या के परिजनों को 53,100 रुपए की धनराशि देकर उन्हें न्याय दिलाने का आश्वासन देते हुए दिव्या काण्ड की सीबाआई जाँच की माँग की गई और निर्णय लिया गया कि इसके लिए व्यापारी परिजनों के साथ राज्यपाल से मिलेंगे। संगठन के महामंत्री ज्ञानेश मिश्र ने दिव्या काण्ड में पुलिस की भूमिका को गलत ठहराते हुए कहा कि वह इस मामले को हल्का करने का प्रयास कर रही है। सभा में व्यापारियों से अपील की गई कि वह दीपावली में खर्च होने वाली धनराशि का कुछ अंश दिव्या के परिजनों को दें, साथ ही नौकरी क ी व्यवस्था कराई जाए। संगठन के चेयरमैन सुरेन्द्र सनेजा ने कहा कि दिव्या के परिजनों को आर्थिक सहायता के साथ नौकरी दिलाने का प्रयास करेंगे। इस मौके पर युवा अध्यक्ष विनोद गुप्ता, वरिष्ठ उपाध्यक्ष सुशील शुक्ला, अजय बाजपेई, उपाध्यक्ष राजे गुप्ता, विजय शुक्ला, लालू मिश्र, चन्द्राकर दीक्षित, कमल त्रिपाठी, हरिशंकर गुप्ता, आनन्द शुक्ल, रामसेवक यादव आदि मौजूद रहे। इसी तरह से आईसीआईसीआई के सदस्यों ने भी दिव्या के परिजनों की मदद के लिए हाथ बढ़ाए। तो कई व्यापारियों ने उनके घर में राशन-पानी पहुँचाया। वहीं समाजसेवी संस्था की मंजू भाटिया ने दिव्या के परिजनों को 8000 रुपए की धनराशि दी। 

दोषियों को सजा देगा विधाता
हो सकता है कि रसूख और दौलत से तो दोषी बच जाएं पर उन्हें और उन्हें बचाने वालों को विधाता की मार से कोई नहीं बचा पाएगा। यह बात शनिवार को महापौर रवीन्द्र पाटनी ने कही।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दिव्या के परिजनों की मदद को आगे आए लोग