DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो दिन बाद हो सकता है वारदात का खुलासा

अतुल गोयल हत्याकांड की गुत्थी सुलझाने में जुटी पुलिस को 24 घंटे बाद भी खास सफलता तो नहीं मिली, लेकिन पुलिस का दावा है कि अतुल की हत्या पैसों के लेन-देन को लेकर की गई है। हत्यारे अतुल के नजदीकी हैं। इनकी संख्या तीन से अधिक नहीं है। लेकिन वे कौन लोग हैं तो पुलिस का बस इतना भर कहना है कि हत्यारे स्थानीय हैं और उसी कारोबार से जुड़े हैं। पुलिस इनका जल्द ही खुलासा करेगी। खुलासे के लिये दो दिन का भी समय लग सकता है।


रविवार शाम एसएसपी रघुवीर लाल कविनगर में मृतक अतुल गोयल के घर गए। उन्होंेने मृतक के बड़े भाई अशोक गोयल के अलावा मौजूद सगे संबंधियों से पूछताछ की। पूछताछ के सिलसिले में वे शाम पांच बजे से लेकर करीब दो घंटे तक उनके घर पर रहे। परिवार के कई सदस्यों से ऊपरी मंजिल पर बने कमरे में एकांत में बातचीत की। व्यापारिक रंजिश या अन्य किसी प्रकार के लेन-देन के बारे में जानकारी ली। कप्तान ने भरोसा दिलाया कि अगर परिवार के सदस्यों का सही सहयोग मिला तो केस सही तरीके से वर्क आउट हो पाएगा।
पुलिस कप्तान रघुवीर लाल ने बताया कि हत्याकांड की तह तक पहुंचने के लिए पुलिस हरसंभव प्रयास कर रही है। पांच टीमें लगी हैं। गुड़गांव तक टीमें भेजी गईं। रविवार शाम परिवार के सदस्यों से भी पूछताछ की गई। असली हत्यारों तक पुलिस जल्द पहुंच जाएगी। उन्होंने इतना जरूर कहा कि जिस फोन कॉल की बात चल रही है, वह गलती से मिलाया गया कॉल निकला है।
उधर, एसपी सिटी अवधेश कुमार विजेता ने बताया कि दूसरे दिन की पड़ताल में कुछ ठोस सुराग मिले हैं। कुछ फोन कॉल्स की पड़ताल के बाद पांच-छह लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। उन्होंने बताया कि अब तक की जांच में मामला लेन-देन की रंजिश का सामने आ रहा है। अन्य बिन्दुओं पर भी पड़ताल चल रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दो दिन बाद हो सकता है वारदात का खुलासा