DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बेटियों को बचाने के लिए बना 'बिटिया समूह'

बेटियों को बचाने के लिए बना 'बिटिया समूह'

बेटियों की कम होती संख्या चिंता का विषय बनती जा रही है। इस स्थिति पर वैसे तो चिंता हर कोई जताता है मगर मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में बेटियों का बचाने के लिए ऐसे अभिभावक सामने आए हैं जिनकी एक बेटी है। ऐसे लोगों ने 'बिटिया समूह' बनाया है ।

बच्चियों को बचाने की इस मुहिम के अगुआ बने हैं भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी मनोहर अगनानी। वैसे अगनानी ने तमाम जिलों में प्रशासनिक पद पर रहते हुए भ्रूण परीक्षण करने वालों के खिलाफ  कई कार्रवाइयां की है, अब वे जागरुकता फैलाने के अभियान के लिए आगे बढें है।

प्रारंभिक तौर पर इस समूह के 60 लोग सदस्य बन चुके हैं। इन सदस्यों में अधिकारी, समाजसेवी और प्रोफेसर भी शामिल है। इस समूह ने अपनी एक वेबसाइट भी बनाई है जिसमें बेटियों को बचाने से लेकर भ्रूण हत्या को रोकने के संदेश दर्ज है। समूह इस बेवसाइट को और आकर्षक बनाने वाली है। इस पर सदस्यों के संदर्भ में ब्योरा और उनका परिचय दर्ज होगा।

समूह के प्रमुख अगनानी का कहना है कि पहले उनके मन में सिर्फ बेटियों के अभिभावकों को सदस्य बनाने का विचार आया था मगर बाद में एक बेटियों के पालकों को सदस्य बनाने का फैसला लिया गया। इस समूह के सदस्यों ने तय किया है कि आने वाले समय में इसका विस्तार किया जाएगा। इसके साथ ही समूह बच्चियों को बचाने के लिए कई तरह के कार्यक्रम भी आयोजित करेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बेटियों को बचाने के लिए बना 'बिटिया समूह'