अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अच्छे खिलाड़ियों को बाहर करने से हो रहा नुकसानः पिल्लई

अच्छे खिलाड़ियों को बाहर करने से हो रहा नुकसानः पिल्लई

भारतीय हॉकी टीम के लचर प्रदर्शनों के बारे में टीम के पूर्व कप्तान धनराज पिल्लई का कहना है कि प्रभजोत सिंह जैसे बेहतर खिलाड़ियों को दरकिनार करने की वजह से टीम इंडिया के प्रदर्शन में लगातार गिरावट आ रही है।

सुरजीत हॉकी टूर्नामेंट के समापन के बाद धनराज पिल्लई ने एक बातचीत में हालांकि हालिया संपन्न कॉमनवेल्थ गेम्स में हॉकी टीम के प्रदर्शन पर प्रसन्नता जाहिर की लेकिन साथ ही कहा कि इनमें स्वर्ण पदक न मिल पाने का उन्हें दुख भी है।

एशियाई खेलों में 1998 में स्वर्ण पदक विजेता टीम के कप्तान ने कहा कि प्रभजोत सिंह, दीपक ठाकुर और गगन अजीत जैसे खिलाड़ियों की उपेक्षा से भारतीय टीम के प्रदर्शन में लगातार गिरावट आयी है। ये खिलाड़ी अनुभवी हैं और इनको अगर अब भी मौका मिलता है तो टीम की हालत में सुधार आएगा।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रमंडल खेलों में टीम का प्रदर्शन शानदार रहा, लेकिन फाइनल में टीम बुरी तरह हार गयी और स्वर्ण पदक से वंचित रह गयी। उन्होंने कहा कि स्वर्ण पदक न मिल पाने का मुझे दुख है।

पिल्लई ने कहा कि फाइनल में दबाब मुक्त होकर खेलने से शायद हॉकी टीम और बेहतर प्रदर्शन कर सकती थी। यह पूछे जाने पर कि प्रभजोत राष्ट्रमंडल टीम में शामिल होते तो क्या स्वर्ण पदक मिल सकता था, उन्होंने कहा शायद ऐसा हो सकता था।

पूर्व कप्तान ने यह भी कहा कि कई बेहतर खिलाडी हैं जिन्हें अच्छे प्रदर्शन के बावजूद टीम में स्थान नहीं मिल पा रहा है। उल्लेखनीय है कि 1998 में एशियाई खेलों में भारत ने हॉकी में स्वर्ण पदक जीता था। धनराज पिल्लई उस टीम के कप्तान थे। इसके बाद से भारतीय हॉकी टीम अंतरराष्ट्रीय खेलों में स्वर्ण पदक जीतने में असफल रही है।

हॉकी इंडिया के बारे में पूछे जाने पर पिल्लई ने कहा कि मैं हॉकी इंडिया के बारे कुछ नहीं कहूंगा। मैं यहां इस बारे में बात करने नहीं आया हूं बल्कि खेलने आया हूं। पिल्लई ने कहा कि मैं इस बारे में कोई बात नहीं करुंगा। मैं अपने खेल का लुत्फ उठा रहा हूं। मैं अपना खेल खेल रहा हूं।

शनिवार रात जालंधर में दूधिया रोशनी में राष्ट्रीय सुरजीत हॉकी टूर्नामेंट खेला गया। जिसमें उनकी टीम एयर इंडिया टाईबेकर में इंडियन ऑयल के हाथों हार गयी। एयर इंडिया की अगुवाई समीर दाद कर रहे थे जबकि इंडियन ऑयल की अगुवाई इंदरजीत सिंह कर रहे थे। इंडियन ऑयल की टीम में प्रभजोत सिंह और दीपक ठाकुर भी शमिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अच्छे खिलाड़ियों को बाहर करने से हो रहा नुकसानः पिल्लई