अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कांग्रेस का बिहार में मुख्य विपक्षी पार्टी बनने पर नजर

बिहार में दो दशक से सत्ता से बाहर रह रही कांग्रेस एक बार फिर से विपक्ष में बैठने को तैयार है, लेकिन इस बार वह मुख्य विपक्षी पार्टी बनना चाहती है। बिहार में हो रहे विधानसभा चुनाव के तहत प्रथम चरण का मतदान हो चुका है और पार्टी को जमीनी स्तर से यह प्रतिक्रिया मिल रही है कि राज्य में जदयू़-भाजपा गठबंधन मजबूत स्थिति में है, इसलिये कांग्रेस राज्य में मुख्य विपक्षी पार्टी का स्थान हासिल कर वहां से राजद को बेदखल करने की कोशिश कर रही है।

राज्य की विधानसभा में राबड़ी देवी विपक्ष की नेता हैं, जबकि पिछले पांच साल से 243 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस के सिर्फ नौ विधायक हैं।

दरअसल, राज्य में मुख्य विपक्षी पार्टी का दर्जा हासिल करने के लिये किसी पार्टी को विधानसभा में कम से कम 10 फीसदी सीटें जीतनी होंगी और उस पार्टी की सदस्यों की संख्या किसी अन्य विपक्षी पार्टी की सीटों से अधिक होनी चाहिए।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कांग्रेस का बिहार में मुख्य विपक्षी पार्टी बनने पर नजर