DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

20 दिनों में लील चुका है 92 लोगों को बुखार

जिले में शनिवार का दिन संदिग्ध डेंगू मरीजों के लिए काल वाला रहा। छह लोगों की बुखार ने जान ले ली। इनमें दो बच्चे भी शामिल हैं। शुक्रवार को जिले के सात घरों में अपनों के चले जाने की चीख पुकार होती रही। पिछले बीस दिन में 92 लोगों की मौत हो चुकी है। जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग की नींद नहीं खुल पाई है।


गाजियाबाद के गोविंदपुरम निवासी कृष्ण पांडे की 12 साल की पुत्री पूजा कई दिनों से बुखार से पीड़ित थी। पूजा का इलाज शहर के हीरालाल अस्पताल में चल रहा था। यहां उपचार के बाद उसकी मौत हो गई। मौत के बाद पूरे क्षेत्र में दहशत का माहौल व्याप्त है।
मुरादनगर क्षेत्र के खिमावती गांव में डेंगू से पीड़ित बाबू(40) नामक व्यक्ति की  मौत हो गई। युवक कई दिनों से बुखार से पीड़ित था। उसे मोदीनगर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। मौत के बाद गांव में दहशत का माहौल बना हुआ है।
उधर, गढ़मुक्तेश्वर में संदिग्ध डेंगू से दो की मौत हो गई। नगर के मौहल्ला मदरसा निवासी अली (60) की मौत हो गई। पीड़ित पिछले एक सप्ताह से बुखार से पीड़ित था। दूसरी मौत अहाता बस्तीराम निवासी कन्हैया लाल(69) की हुई है। कन्हैया लाल को पिछले एक माह से बुखार चल रहा था।
हापुड़ में भी एक 15 साल से बालक समेत दो की मौत हो गई। गांव गढ़ी निवासी यामीन कई दिनों से बुखार से पीड़ित था। उसका इलाज प्राइवेट अस्पताल में चल रहा था। शनिवार को यामीन की मौत हो गई। वहीं छावनी में रहने वाले एक 15 साल के बालक की मौत की सूचना है। बताया गया है कि बच्चाे को डेंगू हो गया था।
लगातार हो रही मौत के बाद भी अभी स्वास्थ्य विभाग जागा नहीं है। पिछले 23 दिनों में 92 लोगों को बुखार लील गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:20 दिनों में लील चुका है 92 लोगों को बुखार