अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गाजियाबाद में खुलेगी सीएसआईआर यूनिवर्सिटी

साइंस और इंजीनियरिंग की पीएचडी देने वाला देश का पहला विश्वविद्यालय गाजियाबाद में स्थापित होने जा रहा है। वैज्ञानिक एवं औद्यौगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) की एकेडमी ऑफ साइंटिफिक एंड इनोवेटिव रिसर्च (एसीएसआईआर) अगले महीने से शुरू होगी। इस अकादमी का दर्जा विवि का है जिसे जून में केंद्रीय मंत्रिमंडल से मंजूरी मिल चुकी है। इसका विधेयक संसद में है लेकिन इसके पारित होने से पहले विवि को शुरू करने का निर्णय लिया गया है।


सीएसआईआर के उच्च अधिकारी के अनुसार यूनिवर्सिटी का बोर्ड ऑफ गवर्नर तैयार कर लिया गया है जिसमें हरि भरतिया, राजेन्द्र पवार जैसे विशेषज्ञों के अलावा सीएसआईआर की चार प्रयोगशालाओं के निदेशक रखे गए हैं। अभी इसके चांसलर की नियुक्ति होनी है तब तक बोर्ड ऑफ गवर्नर के चेयरमैन का काम सीएसआईआर के महानिदेशक समीर. के ब्रह्मचारी ही देखेंगे। अकादमी फिलहाल साइंस और इंजीनियरिंग के विभिन्न विषयों में पांच साला पीएचडी कराएगी। साइंस में एक हजार और इंजीनियरिंग में 150 पीएचडी प्रतिवर्ष होंगी। बाद में पीजी कोर्स भी शुरू करने की योजना है।
अधिकारी के अनुसार सीएसआईआर का गाजियाबाद में एनएच-24 के निकट अत्याधुनिक मानव संसाधन विकास केंद्र (एचआरडीसी) है। यह करीब 15 हजार वर्ग मीटर में फैला हुआ है तथा विवि के लायक सभी जरूरी सूचना प्रौद्यौगिकी सुविधाओं से लैस है। साथ ही यहां ठहरने के लिए 50 कमरे भी हैं। यहीं पर विवि का मुख्यालय बनाने का निर्णय लिया गया है जो अगले महीने से कार्य करना आरंभ कर देगा।
देश में साइंस और इंजीनियरिंग में पीएचडी करने वालों की संख्या बहुत कम  7420 है। जबकि चीन में 23 हजार पीएचडी प्रतिवर्ष होती हैं। साइंस पीएचडी कम होने के कारण आईआईटी, एनआईटी, केंद्रीय विवि, मेडिकल कालेजों में करीब 35-40 फीसदी फैकल्टी पद रिक्त पड़े हैं। सीएसआईआर की 37 प्रयोगशालाएं हैं तथा जिनमें 4500 वैज्ञानिक हैं जिनमें से 2500 वैज्ञानिक पीएचडी कराने में सहयोग करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गाजियाबाद में खुलेगी सीएसआईआर यूनिवर्सिटी