अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पहली बार वोट डालने वाले युवा थे खुशियों से सराबोर

इस बार पंचायत चुनाव में युवा उम्मीदवारों की भरमार है तो, 1.22 लाख युवक-युवतियों को पहली बार वोट डालने का हक मिला है। इन युवक-युवतियों ने उत्साह से लबरेज होकर वोट डाला। घंटों लाइन में लगकर अपनी बारी का इंतजार किया। जब इनसे बात की गई तो, सभी का कहना था कि वोट सही आदमी को दी जानी चाहिए।
कासना गांव के अमीचंद इंटर कॉलेज में 19 साल की युवती अंजू ने करीब 10 बजे पहली बार वोट डाली। अंजू ने बताया कि वह सवेरे नौ बजे अपने परिवार वालों के साथ आकर लाइन में लगी थी। वोट डालकर बेहद खुशी हुई है। अंजू का कहना था कि वोट अच्छे उम्मीदवार को दी जानी चाहिए। हालांकि उन्होंने अपने परिवार की मर्जी से वोट दी है। बागपुर गांव के बूथ पर वोट डालने के लिए लाइन में खड़ी युवती स्वाति सिंह ने पहली बार वोट डाली। वह नोएडा में रहती हैं। स्नातक अंतिम वर्ष की छात्र हैं। वोट डालने के लिए गांव में आई थीं। पापा के बताए उम्मीदवार को वोट देंगी। लेकिन, बोलीं कि उन्हें गांव में बताया गया कि उम्मीदवारों ने वोट के लिए शराब पिलाई है। कपड़े और रुपये बांटे हैं। यह गलत बात है। लड़पुरा गांव में पोलिंग स्टेशन के बाहर युवकों का एक झुंड खड़ा मिला। इनमें कई ऐसे थे, जो पहली बार वोट डालने आए थे। इनमें से एक राजीव चौधरी ने भी पहली बार वोट डाली है। राजीव ने कहा कि 25 साल का युवक बीडीसी का चुनाव लड़ रहा है। उसे जिताने के लिए गांव के युवा परिवार से हटकर वोटिंग कर रहे हैं। डाढ़ा गांव में मिले नीरज सिंह ने भी पहली बार वोट डाली। उसने बताया कि उसे अच्छा अनुभव मिला है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पहली बार वोट डालने वाले युवा थे खुशियों से सराबोर