अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

15 दिनों में सेक्टर-10 के आठ घरों में चोरी

पिछले पंद्रह दिनों में एक ही सेक्टर के दस घरों में चोर दाखिल हुए। तीन घरों में उन्हें हाथ साफ करने का मौका मिल गया, जबकि अधिकतर में नाकामी हाथ लगी। गुरुवार देर रात भी चोर सेक्टर-10 के एक मकान को निशाना बनाया और जरुरी सामान लेकर फरार हो गए। मकान नंबर-679 में दाखिल हुए। चोरों ने खिड़की के शीशे और दरवाजे का नेट काट दिए और दो सूटकेस पर हाथ साफ कर लिया। हालांकि, इससे कुछ जरुरी चीजें उड़ाने के बाद दस्तावेज को चोरों ने बगल की छत पर फेंक दिया। लगातार चोरी की घटनाओं से पूरे इलाके के लोगों में दहशत का माहौल है। क्षेत्रवासियों का कहना है कि सभी घरों में दाखिल होने के लिए चोर एक जैसा ही मॉडस ऑपरेंडी अपना रहे हैं।
पिछले पंद्रह दिनों के अंदर, सेक्टर-10 के अलग-अलग घरों को चोरों ने निशाना बनाया। इस दौरान उन्होंने घरों से जरुरी सामान उड़ाए, लेकिन घरों में सो रहे लोगों को इस उनके दाखिल होने की भनक तक नहीं मिली। मकान नंबर-679 के जेपी यादव ने बताया कि रात के वक्त वह अपने कमरे में सो रहे थे। पहली मंजिल के दूसरे फ्लोर के दो कमरे खाली थे। बीती रात चोर इसमें दाखिल हुए और दूसरे कमरे से उन्होंने दो सूटकेस उड़ा लिए। इसके पहले चोरों ने कमरे के अलमारी को खंगाला और पर्स से कुछ चीजें निकालने के बाद इसे बाहर फेंक दिया। सुबह जब जेपी सोकर, उठने के बाद कमरे से बाहर निकले तो उन्हें दरवाजे की जाली कटी हुई दिखी। थोड़ी देर बाद खिड़की के शीशे भी कटे दिखे। चोरों ने इन्हें काटकर, अंदर से दरवाजे की कुंडी खोली और खुले कमरे में दाखिल होकर, तसल्ली से अलमीरे का खंगाला। इस दौरान घरवालों को किसी तरह की आवाज नहीं आईं। घटना की जानकारी मिलने पर सेक्टर-10 थाने की पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और वहां से फिंगर प्रिंट लिए गए। हालांकि, रॉ के पूर्व अधिकारी ने जब आसपास की छतों को देखा तो दो सूटकेस वहां मिले। दोनों में रखे जरुरी दस्तावेज मिल गए। जेपी यादव ने बताया कि जिस कमरे में चोरी हुई है, उसमें उनकी बहन के सामान थे। उनके बाहर होने की वजह से घरवालों को अभी तक पता नहीं चल सका है कि क्या चीजें घर से गायब हुई हैं।
  
इनसेट-

सेक्टर-10 क्षेत्र में रहने वालों को अब चिुंता सताने लगी है कि कहीं अगली बारी उनके घर की तो नहीं। चोरों ने घटना को अंजाम देने के लिए एक ही मॉडल ऑपरेंडी अपनाई। सभी घरों के छतों से उपर की मंजिल पर पहुंचे, दरवाजे और खिड़कियों के शीशे और नेट को काटे और फिर तसल्ली से घर के सामान खंगाला। कुछ इसी तर्ज पर इलाके में घटनाओं को चोरों ने अंजाम दिया। पिछले पंद्रह दिनों के अंदर सेक्टर-10 के मकान संख्या 614, 617, 621
625, 646, 675 में घरों में चोर घुसे जबकि दो घरों के सामने से वाहन उड़ा लिए। हालांकि, घरों में चोरों को अधिक समान नहीं मिले, लेकिन अधिकतर घरों से उन्होंने कैश, ज्वैलरी, लैपटॉप, मोबाइल जैसे आइटमों पर हाथ साफ किए। अब तक किसी भी मामले में पुलिस को कोई सुराग नहीं मिल सका है।

इनसेट-जेपी यादव ने बताया कि जिन घरों में चोरी की घटनाएं से लगता है कि चोर कहीं आसपास इसी क्षेत्र में काम करने वाला हो सकता है। हर घर में एक ही तरीके अपनाकर चोर दाखिल हुए और  उन्होंने घटना को अंजाम दिया। कुछ दिनों पहले तक यहां निजी गार्ड भी था, लेकिन अब यह इलाका पुलिस वालों के हवाले है। कई बार दोपहर के वक्त भी इस इलाके में कार या दूसरे वाहन में सवार होकर युवक, बेवजह घूमते नजर आते हैं, लेकिन अब तक उनपर कोई कार्रवाई नहीं की गई है। क्षेत्रवासियों का कहना है कि रेकी करने के बाद चोर, लगातार चोरी की वारदात को अंजाम दे रहे हैं। इससे बचने के लिए पुलिस का सहयोग बेहद जरुरी है। मकान नंबर-625 के पवन कुमार ने बताया कि चोरों ने किरायेदार के घर से दस दिन पहले लैपटॉप सहित कई चीजें उड़ा लीं। मकान संख्या 618 के भीम सिंह ने बताया कि उनके सामने स्थित मकान संख्या-617 में भी चोर दाखिल हुए थे, लेकिन लोगों के जगे होने पर वह भाग गए। समीर रांगा ने बताया कि पिछले दस-15 दिनों के दौरान चोरों ने कई घरों को निशाना बनाया। उनके पिता राम सिंह बताते हैं कि अक्सर कार वॉश करने के लिए एक समूह सुबह 4-4.30 इस इलाके में आता है। कई बार उन्हें मना कर देने के बावजूद वह घर में दाखिल हो जाते हैं। ऐसी घटना को अंजाम देने के पीछे भी उनका हाथ होने की आशंका जताई जा रही है।

सेक्टर-10 थाने के एसएचओ सत्येन्द्र के मुताबिक इस इलाके में पिछले दिनों के दौरान यह चोरी की तीसरी घटना है, वह भी माइनर। उन्होंने कहा कि यहां टू व्हीलर तैनात होने सहित जिप्सी भी गश्त पर होती है। बावजूद, इसके अगर ऐसी घटनाएं हो रही है तो निजी गार्ड की मदद ली जा सकती है। पिछली घटनाओं में पुलिस को अब तक कोई सुराग नहीं मिल सका है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:15 दिनों में सेक्टर-10 के आठ घरों में चोरी