DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ओबामा के दौरे से पहले कश्मीर में आतंकी-हमले की आशंका

ओबामा के दौरे से पहले कश्मीर में आतंकी-हमले की आशंका

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के अगले महीने होने वाले भारत दौरे से पहले जम्मू एवं कश्मीर में किसी बड़े आतंकी हमले की आशंका को देखते हुए यहां की सुरक्षा व्यवस्था को और पुख्ता किया जाएगा।

आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक राज्य की सुरक्षा के बारे में फैसला लेने वाली एजेंसी एकीकृत कमान किसी भी तरह के आतंकी हमले से निपटने के लिए अगले कुछ दिनों के भीतर बैठक करेगी। ऐसे संकेत मिले हैं कि आने वाले दिनों में आतंकवादी किसी बड़े आतंकी हमले को अंजाम दे सकते हैं।

ओबामा के भारत दौरे को लेकर सुरक्षा संबंधी चिंताएं बढ़ गई हैं। इस बात की आशंका जताई गई है कि जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवादी किसी बड़े हमले की फिराक में हैं। एक वरिष्ठ अधिकारी और एकीकृत कमान के एक सदस्य ने बताया कि आतंकवादियों की किसी भी योजना से निपटने के लिए आवश्यक रणनीति पर विचार करने के लिए बैठक बुलाई जाएगी।

एकीकृत कमान में सेना, पुलिस, अर्धसैनिक बल और खुफिया एजेंसियों के प्रतिनिधि शामिल होते हैं। वरिष्ठ अधिकारियों के मुताबिक किसी बड़े आतंकी हमले की आशंका सुरक्षाबलों के लिए खतरे की घंटी है।

विशिष्ट व्यक्तियों, विशेषतौर से अमेरिकी नेताओं के दौरे से पहले हमेशा ही किसी बड़े हमले का अंदेशा बना रहता है। वर्ष 2008 में राष्ट्रपति बिल क्लिंटन के पहले भारत दौरे से कुछ दिनों पहले की छित्तीसिंह पोरा हत्याकांड को अंजाम दिया गया था।

सूत्रों के मुताबिक आतंकी हमले की आशंका के मद्देनजर एकीकृत कमान के अधिकारी राज्य की स्थिति पर पैनी निगाह रखेंगे। अधिकारी इस दौरान अलगाववादी नेताओं की रणनीति पर भी नजर रखे हुए हैं। सूत्रों ने बताया कि राज्य में फिलहाल लगभग 500 आतंकवादी मौजूद हैं। नियंत्रण रेखा के आस-पास भी कड़ी नजर रखने की आवश्यकता है ताकि किसी तरह की घुसपैठ की कोशिश को नाकाम किया जा सके।

सेना प्रमुख जनरल वीके सिंह पहले ही कह चुके हैं कि पाक के नियंत्रण वाले कश्मीर में आतंकवादियों के 42 शिविर चल रहे हैं।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ओबामा के दौरे से पहले कश्मीर में आतंकी-हमले की आशंका