अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इस शो ने तो मेरी जिंदगी ही बदल दी : मुस्कान

इस शो ने तो मेरी जिंदगी ही बदल दी : मुस्कान

सहारा वन के धारावाहिक ‘माता की चौकी’ के जरिए लोगों की पसंद बनी हुई अभिनेत्री मुस्कान अरोड़ा एक नए शो में काफी अलग नजर आ रही हैं। वह इस शो को अपने जीवन का टर्निग प्वाइंट मानती हैं। पेश है इस संबंध में उनसे हुई बातचीत के कुछ मुख्य अंश।

‘माता की चौकी’ ने किस तरह लोगों को प्रेरित किया है?

इस धारावाहिक में मैं मां वैष्णो की सच्ची भक्त बनी हूं। जब से वैष्णवी और साक्षी का किरदार अस्तित्व में आया है, तब से  ‘माता की चौकी’ की कहानी में एक के बाद एक रोचक मोड़ आये हैं। यही रोचक मोड़ लोगों को प्रेरित करते हैं।

क्या आप अपनी दोहरी भूमिका से न्याय कर पाती हैं?

मुझे गर्व है कि मैं इस धार्मिक धारावाहिक की मुख्य किरदार हूं और दो तरह के किरदार निभा रही हूं। फिर किरदार चाहे वैष्णवी का हो या फिर साक्षी का, मैंने हमेशा मेहनत और लगन से काम किया है।

शो के प्रति दर्शकों का रिस्पांस कैसा है?

दोनों भूमिकाओं के बारे में मुझे जो दर्शकों का रिस्पांस मिला है, उससे मैं पूरी तरह संतुष्ट हूं। अभी तक जितने भी एपिसोड मैंने किये हैं, सभी में दर्शकों ने मुझे पसंद किया है। शो में असत्य पर सत्य की विजय के कई प्रसंग दिखाये गये है। मैं मां वैष्णो की सच्ची भक्त के रूप में दानव रूपी एक ढोंगी भक्त शील कुमार का संहार करती हूं। धारावाहिक में मेरे जीवन में कई मुश्किलें आईं और मैंने उन सबका डट कर मुकाबला किया है। तमाम मुश्किलों के बाद भी मेरे किरदार ने सदैव सच का साथ दिया है।

क्या यह शो आपके लिए टर्निंग प्वाइंट है?

बेशक, क्योंकि इस शो के पहले मैंने दो शो किए थे, लेकिन मुझे पहचान इसी शो से मिली। आज साक्षी घर-घर में जाना-पहचाना नाम हो गया है। वैसे किसी धारावाहिक की सफलता में किसी एक व्यक्ति का योगदान नहीं होता। इसके लिए पूरी टीम मेहनत करती है। मेरे लिए अब तक किए गये किरदारों में सबसे ज्यादा चैलेंजिग किरदार वैष्णवी और साक्षी का ही रहा है। चैलेंजिग के साथ उम्दा भी। माता की चौकी मेरे लिए एक संस्थान की तरह है, जहां से मैंने अभिनय की बारीकियां सीखी हैं। मैं लगातार अपने अभिनय को बेहतर बनाने की कोशिश करती हूं।

इस शो के बाद किस तरह का बदलाव आया आपकी जिंदगी में?

मेरे जीवन में अब काफी बदलाव आ गया है। मैं आज पूरी तरह से व्यस्त हूं। मेरे दिन की शुरूआत और अंत इस धारावाहिक की यूनिट और शूटिंग के साथ होता है। मैं अपने करियर से संतुष्ट हूं। मेरी यह आने वालों समय में कोशिश रहेगी कि मैं दर्शकों की कसौटी पर खरी उतरूं। यही मेरा लक्ष्य है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इस शो ने तो मेरी जिंदगी ही बदल दी : मुस्कान