अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हरिद्वार से पटना तक नावों से गंगा अभियान

साहसिक खेलों को बढ़ावा देने और गंगा नदी को प्रदूषण मुक्त करने के उद्देश्य से उत्तर प्रदेश पुलिस स्पोर्टस श्रृंखला के तहत हरिद्वार से पटना तक गंगा अभियान का आयोजन किया गया है। आगामी 24 अक्टूबर से 21 नवम्बर तक चलने वाले गंगा अभियान को उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक ज्योति स्वरूप पांडे हरिद्वार में हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे।

उत्तर प्रदेश पुलिस स्पोर्टस कंट्रोल बोर्ड के सचिव और पुलिस महानिरीक्षक (पीएसी) अरूण कुमार ने शुक्रवार को कहा कि साहसिक खेलों को बढ़ावा देने, गंगा नदी को प्रदूषण से मुक्त रखने और पर्यावरण संरक्षण इस अभियान का मुख्य लक्ष्य है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक 11 फाइबर की बनी नावें (क्याक) और कैनों को हरी झंडी दिखाएंगे।

गंगा अभियान को (निर्मल गंगा अविरल प्रवाह) का नाम दिया गया है। हरिद्वार से शुरू होकर यह अभियान गढ़ मुक्तेश्वर, बुलंदशहर, फतेहगढ़, कन्नौज.कानपुर, उन्नाव, प्रतापगढ़, इलाहाबाद, मिर्जापुर, विंध्याचल, चुनार, वाराणसी होते हुए पटना के वंशघाट पर खत्म होगा।

अरूण कुमार ने कहा कि तेरह सौ किलोमीटर की दूरी 27 दिन में गंगा के 26 घाटों पर रूकेगी। गंगा अभियान के दूसरे चरण में रोइंग नाव का इस्तेमाल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि गंगा अभियान का दूसरा चरण वाराणसी से पटना तक का होगा। वाराणसी से अभियान की शुरूआत आगामी 16 नवम्बर को होगी। पटना में खासपुर इलाके के वंशघाट पर अभियान खत्म होगा। घाटों पर विराम में सांस्कृतिक संध्या का भी आयोजन होगा। उन्होंने कहा कि सुरक्षा के लिए पीएसी की मोटर वोट भी साथ साथ चलेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हरिद्वार से पटना तक नावों से गंगा अभियान