अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

'आक्रोश' में बिपाशा की भूमिका में काट-छांट

'आक्रोश' में बिपाशा की भूमिका में काट-छांट

अभिनेत्री बिपाशा बसु के साथ ऐसा पहले कभी नहीं हुआ था कि किसी फिल्म में उनकी भूमिका में इतनी काट-छांट हुई हो लेकिन 'आक्रोश' में उनके किरदार को बहुत सीमित कर दिया गया है। वैसे बिपाशा इतने से ही खुश हैं कि वह इस फिल्म का हिस्सा हैं।

वह कहती हैं कि मैं शुरुआत से ही जानती थी कि मेरी भूमिका तुलनात्मक रूप से छोटी थी लेकिन मैं इस फिल्म का हिस्सा बनना चाहती थी क्योंकि मैं इसमें विश्वास करती हूं। जब इस सप्ताह की शुरुआत में मैंने पूरी फिल्म देखी तो मुझे एहसास हुआ कि मेरी भूमिका और भी छोटी की गई है। अब मैं फिल्म में बहुत कम दिखती हूं। मैंने जिन महत्वपूर्ण दृश्यों के लिए शूटिंग की थी उन्हें हटा दिया गया।

इस बात से बिपाशा का परिवार और उनके दोस्त निराश हैं। बिपाशा कहती हैं कि मैंने थियेटर में स्थिति को समझते हुए उनसे कहा कि वह 'आक्रोश' को अजय देवगन की फिल्म की तरह देखें। मैंने अपने दोस्तों से कहा कि वह इसे अजय की फिल्म की तरह देखें और यह भूल जाएं कि इसमें मैं भी हूं।

उन्होंने कहा कि कभी-कभी किसी ऐसी फिल्म का हिस्सा बनना ही महत्वपूर्ण होता है जो कुछ महत्वपूर्ण करती है। हम शहरों में रहते हैं और हमें यह मालूम भी नहीं होता कि पिछड़े इलाकों में क्या हो रहा है। हम शहरों में रहने वाले अपनी आंखों पर पट्टी बांधे रहते हैं। एक अभिनेत्री होने के नाते मैं यह कहने में शर्मिंदा हूं कि मैं दुनिया के प्रति उतनी जागरूक नहीं हूं जितना कि मुझे होना चाहिए।

बिपाशा कहती हैं कि हालांकि उनकी भूमिका में काट-छांट की गई है लेकिन उन्हें इसके लिए कोई पछतावा नहीं है। अच्छे कलाकार जब किसी फिल्म की कहानी में विश्वास करते हैं तो वे उसका हिस्सा बन जाते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:'आक्रोश' में बिपाशा की भूमिका में काट-छांट