DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीसीबी को झेलना पड़ सकता है प्रतिबंध : मलिक

पीसीबी को झेलना पड़ सकता है प्रतिबंध : मलिक

पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सलीम मलिक ने मैच फिक्सिंग मामले में पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) की भूमिका की आलोचना करते हुए कहा है कि पीसीबी को इस मसले को जल्द से जल्द सुलझा लेना चाहिए क्योंकि इस दिशा में नाकामी की सूरत में उसे प्रतिबंध झेलने पड़ सकते हैं।

मलिक ने समाचार पत्र 'डेली टाइम्स' से बातचीत के दौरान कहा कि पीसीबी अध्यक्ष एजाज़ बट्ट ने इंग्लिश खिलाड़ियों के मैच फिक्सिंग में शामिल होने संबंधी बयान देकर इस मामले को नया मोड़ दे दिया है। मलिक ने कहा कि बट्ट ने हमारे लिए मुश्किलें बढ़ा दी हैं। अंतराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने अपना कामकाज संभालने के संबंध में पीसीबी को एक सख्त पत्र लिखा है, जिसमें कहा गया है कि इस तरह की बयानबाजी से पीसीबी पर विश्व क्रिकेट तमाम तरह के प्रतिबंध लगा सकता है।

मलिक के मुताबिक आईसीसी द्वारा लिखा गया पत्र देश के लिए अपमान की बात है और इसके लिए बट्ट पूरी तरह ज़िम्मेदार हैं। अब्बास ने कहा कि बट्ट ने इंग्लिश खिलाड़ियों के खिलाफ अटपटा बयान क्यों दिया, यह समझ से परे है। इसके बाद उनके माफी मांगने के बाद हमारी बेइज्ज़ती हुई है। इस संबंध में आईसीसी ने पत्र लिखकर हमारा दर्द और बढ़ा दिया है।

उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान के तीन खिलाड़ियों के मैच फिक्सिंग विवाद में फंसने से बौखलाए बट्ट ने ओवल एकदिवसीय मुकाबले के दौरान कहा था कि इंग्लिश खिलाड़ियों ने हारने के लिए सट्टेबाजों से पैसे लिए हैं। इसे लेकर ईसीबी ने सख्त विरोध जताया था और कानूनी लड़ाई की धमकी दी थी। इसके बाद बट्ट ने अपना बयान वापस लेकर इंग्लिश खिलाड़ियों से माफी मांग ली थी।

पीसीबी अध्यक्ष ने पाकिस्तान में क्रिकेट की दशा पर चर्चा के लिए राष्ट्रपति और संरक्षक आसिफ अली ज़रदारी को खत लिखा है। इससे पाकिस्तान का खेल मंत्रालय नाराज़ है। खेल मंत्रालय ने कहा है कि बट्ट ने सीधे तौर पर ज़रदारी से संपर्क साधकर प्रोटोकाल का उल्लंघन किया है।

ज़रदारी को लिखे अपने पत्र में बट्ट ने पीसीबी की आधारभूत संरचना में बदलाव की अनुमति मांगी है। बट्ट के मुताबिक अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की अनुशंसाओं पर अमल करने के लिए ये बदलाव बेहद ज़रूरी हैं। अपने पत्र में बट्ट ने बदलाव की अनुमति के साथ-साथ पीसीबी को ठीक से चलाने के लिए अधिक से अधिक अधिकार मांगे हैं। इस संबंध में जरदारी 10 दिनों के भीतर बट्ट को अपने पास बुला सकते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पीसीबी को झेलना पड़ सकता है प्रतिबंध : मलिक