DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महिला समानता अब भी एक सपना: संयुक्त राष्ट्र

महिला समानता अब भी एक सपना: संयुक्त राष्ट्र

संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि दुनिया में महिला समानता अब भी एक सपना है।

द वल्डर्स वुमेन 2010 रिपोर्ट में कहा गया है कि प्राथमिक स्कूलों में महिलाओं के नामांकन की दर 2007 में 86 प्रतिशत हो गई है, जो 1999 में 79 फीसदी थी।

रिपोर्ट के मुताबिक, हालांकि इस क्षेत्र में महिलाओं ने तरक्की है, लेकिन अब भी बहुत सी गर्भवती महिलाओं की नौकरी चली जाती है और विभिन्न देशों की संसद में निर्णयकारी महिलाओं की संख्या भी कम है। निजी क्षेत्रों में भी दुनिया के 500 सबसे बड़े संगठनों में से मात्र 13 में महिलाएं मुख्य कार्यकारी अधिकारी की भूमिका में हैं।

संयुक्त राष्ट्र की ओर से यह रिपोर्ट बुधवार को पहले संयुक्त राष्ट्र विश्व सांख्यिकी दिवस के मौके पर जारी की गई। रिपोर्ट जारी होने के बाद संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने कहा कि कई मोर्चे पर प्रगति होने के बावजूद स्पष्ट है कि बहुत कुछ किया जाना बाकी है, खास तौर पर सार्वजनिक क्षेत्र में लिंग भेद दूर करने और महिलाओं के खिलाफ विभिन्न प्रकार की हिंसा को खत्म करने के लिए।

इसमें यह भी बताया गया है कि दुनिया में अभी भी 54 फीसदी लड़कियां स्कूल नहीं जा रही हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:महिला समानता अब भी एक सपना: संयुक्त राष्ट्र