DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संसद के द्वार से प्रधानमंत्री को लौटा दिया गया था

संसद के द्वार से प्रधानमंत्री को लौटा दिया गया था

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को अगस्त में एक दिन संसद भवन परिसर से गुजरने की अनुमति नहीं दी गई थी। संसद भवन परिसर में तैनात संसद सुरक्षा स्टाफ और पुलिस कर्मियों के बीच तालमेल की कमी के कारण ऐसा हुआ था।

यह घटना 18 अगस्त की है। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भाजपा सांसद शाहनवाज हुसैन के आवास पर इफ्तार पार्टी में हिस्सा लेने के बाद लौट रहे थे। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि प्रधानमंत्री आम जनता को कोई परेशानी न हो इसके चलते सीधे संसद से भाजपा सांसद के आवास पर गए थे, लेकिन घर वापसी के समय उन्होंने देखा कि संसद भवन परिसर के द्वार बंद थे।
   
सूत्रों ने बताया कि जब अधिकारियों ने संसद की सुरक्षा में तैनात लोगों से पूछताछ की तो बेहद रूखे शब्दों में उनसे कहा गया कि चूंकि प्रधानमंत्री के आने-जाने के बारे में उनके पास पहले से कोई सूचना नहीं है इसलिए काफिले को वहां से गुजरने की अनुमति नहीं दी जा सकती।

उन्होंने कहा कि शाम आठ बजे संसद के सभी द्वारों को बंद करने का मानक दस्तूर है। प्रधानमंत्री की सुरक्षा में तैनात लोगों ने तुरंत 7, रेसकोर्स स्थित प्रधानमंत्री आवास पहुंचने के लिए अलग मार्ग पकड़ा।

सूत्रों ने बताया कि इस घटना की जानकारी दिल्ली पुलिस ने गृह मंत्रालय को दी। प्रधानमंत्री के काफिले को जिस तरीके से संसद के द्वार से वापस भेज दिया गया यह बात दिल्ली पुलिस को पसंद नहीं आई थी। इससे वीवीआईपी की सुरक्षा को कथित तौर पर खतरा पैदा हो गया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:संसद के द्वार से प्रधानमंत्री को लौटा दिया गया था