DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शिव सेना को अब मस्जिद के अजान पर भी आपत्ति

शिव सेना को अब मस्जिद के अजान पर भी आपत्ति

ध्वनि प्रदूषण के मानकों के उल्लंघन पर कार्रवाई का सामना कर रही शिव सेना ने बुधवार को कहा कि ध्वनि प्रदूषण फैलाने के लिए मस्जिदों पर भी कार्रवाई होनी चाहिए।

शिव सेना ने अपने मुखपत्र 'सामना' के संपादकीय में लिखा है कि शहर की मस्जिदों में भोर के समय 'अजान' होती है। इससे बच्चों, बुजुर्ग और बीमार लोगों को काफी सुबह जागना पड़ता है।

संपादकीय में लिखा है कि 'अजान' विद्यार्थियों को उनकी पढ़ाई में व्यवधान उपस्थित करता है। तेज आवाज से बीमार लोगों को भी असुविधा होती है, लेकिन इसकी तरफ किसी का ध्यान नहीं जा रहा है।

संपादकीय ने प्रदूषण के खिलाफ अभियान चलाने वाली सुमारिया अब्दुल से पूछा गया है कि वह इस मामले में अपनी आवाज क्यों नहीं उठा रही हैं? मुखपत्र ने उनके अभियान को 'नाटक' करार दिया है। 

'सामना' ने लिखा है कि ऐसे लोग हिंदू, हिंदुत्व और मराठियों के हित की बात करने वाले शिव सेना 'टाइगर' की आवाज को दबाना चाहते हैं। संपादकीय के अनुसार शिव सेना कानून का सम्मान करती है।

उल्लेखनीय है कि शिव सेना ने मंगलवार को बुर्का पर प्रतिबंध लगाए जाने की मांग की। उसका कहना है कि मुस्लिम महिलाओं द्वारा बुर्का पहने जाने से सुरक्षा को खतरा बना रहता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बुर्के के बाद शिव सेना को अजान पर भी आपत्ति