अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

52 जिलों में शुरु होगी इंदिरा गांधी मातृत्व सहयोग योजना

सरकार ने देश के दूरदराज इलाकों में जच्चा बच्चा की ठीक ढंग से देखभाल के लिये 1000 करोड़ रुपये की इंदिरा गांधी मातृत्व सहयोग योजना को हरी झंडी दे दी। शुरु में योजना चयनित 52 जिलों में चलाई जायेगी और इन जिलों में करीब 14 लाख गर्भवती और छोटे बच्चों वाली माताओं को योजना का लाभ मिलने की उम्मीद है।

   
प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की अध्यक्षता में आज यहां हुई मंत्रिमंडल की आर्थिक मामलों की समिति की बैठक में इस योजना को मंजूरी दी गई।  योजना को अमल में लाने के लिये वर्तमान 11वीं पंचवर्षीय योजना के शेष बचे दो सालों में 1000 करोड़ रुपये का खर्च होगा। इस वित्त वर्ष में 390 करोड़ और अगले वित्त वर्ष में 610 करोड़ रुपये योजना के लिये आवंटित होंगे। चुने गये 52 जिलों के आंगनबाड़ी केन्द्रों के जरिये योजना पर अमल किया जायेगा।
   
शतप्रतिशत केन्द्र प्रायोजित इस योजना पर अमल में एकीकत बाल विकास योजना (आईसीडीएस) के पूरे ढांचे को उपयोग में लाया जायेगा। इसके अलावा अनुबंध के आधार पर अन्य लोगों को भी इसमें लगाया जायेगा। योजना के तहत माताओं और बच्चों के स्वास्थ्य तथा पोषण से जुडी कुछ शर्तो को पूरा करने के आधार पर गर्भवती और छोटे बच्चों को दूध पिलाने वाली माताओं को नकद सहायता उपलबब्ध कराई जायेगी।

गृहमंत्री चिदंबरम ने योजना की जानकारी देते हुये कहा कि योजना के तहत गर्भवती और दूध पिलाने वाली माताओं को तीन किस्तों में कुल 4000 रुपये की नकद राशि अतिरिक्त सहायता के तौर पर उपलब्ध कराई जायेगी। यह राशि गर्भधारण करने की दूसरी तिमाही से लेकर बच्चों के छह महीने का होने तक दे दी जायेगी। हालांकि केन्द्र और राज्य सरकारों तथा सार्वजनिक उपक्रमों के कर्मचारियों को इस योजना से अलग रखा गया है। क्योंकि उन्हें मातृत्व लाभ के दौरान वेतन सहित अवकाश की सुविधा मिली हुई है।

   
इस संबंध में जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि 52 जिलों में करीब 13. 8 लाख गर्भवती और छोटे बच्चों वाली माताओं को योजना का लाभ मिलेगा।  इसमें कहा गया है कि लाभार्थी महिलाओं में 19 साल अथवा इससे अधिक आयु की गर्भवती महिला हो सकती है। 
योजना के तहत महिलाओं को यह लाभ पहले दो जीवित बच्चों के लिये ही मिलेगा।
   
योजना को सफल बनाने के लिये आंगनबाडी कर्मियों को भी इसमें प्रोत्साहन दिया गया है। योजना के तहत लाभार्थी महिलाओं को दी जाने वाली राशि का भुगतान पूरा हो जाने पर आंगनबाडी कार्यकर्ता और हेल्पर को ऐसी प्रत्येक लाभार्थी के लिये क्रमश 200 और 100 रुपये की प्रोत्साहन राशि दी जायेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:52 जिलों में शुरु होगी इंदिरा गांधी मातृत्व सहयोग योजना