DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिजली क्षेत्र में उतरेगी कोणार्क, 1,000 करोड़ रुपये का निवेश

विभिन्न क्षेत्रों में काम करने वाले कोणार्क समूह ने गैर परम्परागत स्रोतों से बिजली उत्पादन के कारोबार में उतरने की तैयारी की है। इस क्षेत्र में कंपनी 1,000 करोड़ रुपये का निवेश करेगी।

कंपनी के एक शीर्ष अधिकारी के अनुसार, कोणार्क समूह का लक्ष्य 2013 तक 100 मेगावाट अक्षय उर्जा के उत्पादन का है। कंपनी के निदेशक शोनित डालमिया ने कहा कि बिजली क्षेत्र में काफी संभावनाएं हैं। खासकर अक्षय उर्जा के क्षेत्र में।

डालमिया ने कहा कि अभी यह क्षेत्र शुरुआती चरण में है। हमें लगता है कि इसमें उतरने का यह उचित समय है। वित्त वर्ष 2012-13 तक हम 100 मेगावाट का अक्षय उर्जा का उत्पादन हासिल करने के लिए संयंत्र लगाने पर 1,000 करोड़ रुपये का निवेश करेंगे।
   
उन्होंने कहा कि इस 100 मेगावाट में सौर और पवन उर्जा दोनों शामिल होंगी। कंपनी को गुजरात में पांच मेगावाट की सौर उर्जा परियोजना लगाने की पहले की मंजूरी मिल गई है। इसका निर्माण अगले साल के अंत तक पूरा होने की उम्मीद है।
    
डालमिया ने कहा कि शुरुआत में हम अपनी परियोजनाओं का वित्त पोषण लोन और आंतरिक स्रोतों से करेंगे। कुछ परियोजनाएं शुरू होने के बाद हम निजी इक्विटी विकल्प पर विचार करेंगे। कई पीई कंपनियां पहले ही हमसे संपर्क कर चुकी हैं।
    
उन्होंने कहा कि गुजरात के अलावा हम राजस्थान और महाराष्ट्र में भी संयंत्र लगाना चाहते हैं। हमने राजस्थान में 50 मेगावाट का सौर उर्जा संयंत्र लगाने के लिए आवेदन किया है। हमें जरूरी मंजूरियों का इंतजार है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिजली क्षेत्र में उतरेगी कोणार्क, 1,000 करोड़ रुपये का निवेश