DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इंजीनियरिंग की पढ़ाई में मददगार

मिनिस्ट्री ऑफ डिफेंस के तहत सेंट्रल पब्लिक सेक्टर का संस्थान बीईएमएल लिमिटेड इस विशेष स्कॉलरशिप का इंतजाम करता है।

उच्च शिक्षा के लिए हर साल लाखो छात्र इंजीनियरिंग संस्थानों का रुख करते हैं, लेकिन अनेक प्रतिभाएं केवल आर्थिक मोर्चे पर कमजोर होने के चलते इस दिशा में आगे नहीं बढ़ पातीं। ऐसे अनुसूचित जाति व जनजाति से संबंध रखने वाले संसाधनविहीन छात्रों की मदद के लिए मिनिस्ट्री ऑफ डिफेंस के तहत सेंट्रल पब्लिक सेक्टर का संस्थान बीईएमएल लिमिटेड विशेष स्कॉलरशिप का इंतजाम करता है।

शैक्षणिक योग्यता

बीईएमएल स्कॉलरशिप को पाने के लिए अनुसूचित जाति/ जनजाति के आवेदक को इंजीनियरिंग प्रथम वर्ष का छात्र होना चाहिए। छात्र मैकेनिकल/ ऑटोमोबाइल/ इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन स्ट्रीम का छात्र होना चाहिए। इसके अलावा अनुसूचित जाति के छात्र का बारहवीं में पास प्रतिशत जहां 60 फीसदी निर्धारित है, वहीं अनुसूचित जनजाति के आवेदकों के लिए यह 55 फीसदी है।

अन्य अनिवार्य योग्यता

स्कॉलरशिप के लिए अन्य अनिवार्य योग्यताओं में सर्वप्रथम आवेदक का भारतीय नागरिक होना जरूरी है। इसके अलावा उस छात्र को ही इस स्कॉलरशिप का लाभ मिलेगा, जिसकी पारिवारिक आमदनी 2 लाख रुपये सालाना से अधिक न हो।
स्कॉलरशिप देते समय ग्रामीण पृष्ठभूमि के छात्रों को तरजीह दी जाती है।

मिलने वाली सहायता व अवधि

आवेदक छात्र का चुनाव हो जाने पर सरकार द्वारा उसे संबंधित कोर्स के लिए निर्धारित फीस के बराबर स्कॉलरशिप मिलती है। इसके अलावा छात्र-छात्रा को प्रति सेमेस्टर 25 सौ रुपये तक की सहायता किताबों के लिए मिलती है और हॉस्टल फीस का भुगतान भी इस स्कॉलरशिप के तहत किया जाता है। हालांकि इसके लिए प्रमाण पेश करना अनिवार्य है। स्कॉलरशिप की अवधि पाठय़क्रम पूरा होने तक की होती है, लेकिन प्रदर्शन खराब होने या फिर नियमों के तहत अन्य अनिवार्यताओं का पूरा न करने की सूरत में सहायता बंद भी हो सकती है।

स्कॉलरशिप की संख्या व भुगतान

स्कॉलरशिप की संख्या कम है, पर आवेदनों के आधार पर हर साल इसमें कमी या इजाफे का निर्णय लिया जाता है। भुगतान की बात करें तो यह राशि छात्र को सीधे न मिलकर उस संस्थान व कॉलेज प्रमुख के माध्यम से मिलती है, जहां छात्र अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा होता है।

रोजगार का अवसर भी उपलब्ध

बीईएमएल रोजगार का अवसर भी मुहैया कराता है। इंजीनियरिंग की डिग्री पाने के बाद बीईएमएल साक्षात्कार के बाद छात्रों को असिस्टेंट इंजीनियर ट्रेनी के पद के लिए नियुक्ति प्रदान करता है। इस दौरान उन्हें 12 हजार रुपये मासिक मेहनताना दिया जाता है। जो छात्र इस पद पर एक साल तक बेहतर काम करते हैं, उन्हें असिस्टेंट इंजीनियर ग्रेड-वन अधिकारी के तौर पर नियुक्ति दी जाती है।

आवेदन व अधिक जानकारी के लिए संपर्क करें
जनरल मैनेजर (एचआर), बीईएमएल लिमिटेड,
रूम नम्बर-5, बीईएमएल सुधा, 23/1, 4th, मैन, एसआर नगर, बेंगलुरू- 560027
वेबसाइट-  www.bemlindia.com

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इंजीनियरिंग की पढ़ाई में मददगार