DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मार्केट रिसर्च

ज्ञान

मार्केट रिसर्च में विभिन्न स्थानों में किसी विशेष उत्पाद, सेवा के बारे में शोध किया जाता है। इसमें पता किया जाता है कि जनसंख्या का कौन सा हिस्सा कोई विशेष उत्पाद खरीदता है। इस संबंध में आकलन आयु, लिंग, स्थान, आय और अन्य कारकों के आधार पर किया जाता है। मार्केट रिसर्च से कंपनियों को उनके अतीत, वर्तमान और भावी ग्राहकों और उनकी पसंद-नापसंद का पता चलता है।

मार्केट रिसर्च डाटा के आधार पर उद्योग अपने ‘टार्गेट ऑडियंस’ तय करते हैं। टार्गेट ऑडियंस ग्राहकों का एक विशिष्ट समूह होता है जिसकी अपनी जरूरतें होती हैं। रिसर्च से पता चलता है कि कोई टार्गेट ऑडियंस किसी विशिष्ट उत्पाद को कब तक इस्तेमाल करेगी और वह उससे कितनी संतुष्ट है। इस सूचना से उत्पादक और सेवा प्रदाता जरूरी क्षेत्रों में अपने प्रयास तेज करते हैं।

उदाहरण के लिए प्रौढ़ स्त्री एवं पुरुष अपने बालों के लिए हेयर डाई इस्तेमाल करते हैं। ऐसे उत्पादों के लिए बड़ी उम्र के लोगों को ही लक्ष्य किया जाता है। लेकिन यदि कोई उत्पाद विभिन्न आयुवर्ग के लिए बना है और केवल एक ही आयुवर्ग के लोगों में पैठ बना रहा है, तो कंपनी मार्केट रिसर्च टीम की मदद से इसका कारण जानना चाहती है। रिसर्च डाटा के आधार पर कंपनी उस उत्पाद को अन्य ऑडियंस के लायक बनाने की तैयारी करती है या उसे विज्ञापन के जरिए प्रचारित करने का कार्य करती है।

मार्केट रिसर्च से कंपनियां नए उत्पादों या उत्पाद श्रेणियों के विकास की दिशा में भी कार्य करती हैं। वह यह पता करती हैं कि नए उत्पादों को मार्केट में किस तरह की प्रतिक्रिया मिलेगी। पुराने उत्पादों के प्रति ग्राहकों की प्रतिक्रिया का भी मार्केट रिसर्च के मार्फत पता किया जाता है। इसकी मदद से व्यवसाय में निरंतर बेहतरी के लिए ग्राहकों की जरूरत के अनुसार फेरबदल होते रहते हैं। जरूरत के अनुसार किसी प्रोडक्ट के उत्पादन को रोका या बदला जा सकता है। उसके मूल्य में भी परिवर्तन किया जा सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मार्केट रिसर्च