DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दूसरी बार भाग्यशाली बने अजय

दूसरी बार भाग्यशाली बने अजय

अजय देवगन अपने परिवार का पूरा ध्यान रखते हैं और आगे की सोच कर चलते हैं। अब उन्हें पेरेंटिंग का अच्छा अनुभव हो गया है। सात साल पहले जब उनकी बेटी न्यासा का जन्म हुआ तो उस समय कुछ परेशानी रही थी। लेकिन इस बार उन्हें कोई परेशानी नहीं हुई। कहते हैं सेकेंड टाइम पेरेंटिंग ज्यादा आसान है।

अजय देवगन मानते हैं कि सेकेंड टाइम पेरेंटिंग ज्यादा आसान होती है। अपने एक महीने के बेटे युग के बारे में बात करते हुए वह कहते हैं- ‘युग के जन्म के समय मुझे पता था कि ऐसे मौके पर किन-किन चीजों की जरूरत होती है।’ अजय देवगन की सात वर्षीय बेटी न्यासा भी अपने छोटे भाई के साथ बहुत खुश नजर आ रही है। अजय बताते हैं- ‘युग न्यासा के साथ बातचीत करता है, लेकिन जब वह घर में होती है तो उसका ध्यान बस युग पर ही होता है। जब वह स्कूल के लिए जाती है तो उसे ‘बाय’ कहना नहीं भूलती। और जब वह स्कूल से वापस आती है तो सबसे पहले उसके बारे में ही पूछती है।’

जब न्यासा का जन्म हुआ था तो उसके जन्म से पांच साल पहले ही अजय और काजोल ने उसका नाम निश्चित कर लिया था। और उन्होंने अपने बेटे का नाम युग उसके आने के बाद रखा। वह बताते हैं- ‘युग का मतलब होता है जमाना या समय। यह एक सकारात्मक चक्र है। हर कोई उसे पसंद करता है।’

अजय की फिल्म ‘आक्रोश’ हाल में रिलीज हुई है, जो कि ओनर किलिंग्स जैसे विषय को लेकर बनाई है। यह उनकी साल की चौथी फिल्म है। इससे पहले ‘अतिथि तुम कब जाओगे’, ‘राजनीति’ और ‘वंस अपॉन ए टाइम इन मुंबई’ रिलीज हो चुकी हैं। उनकी एक फिल्म ‘गोलमाल 3’ दीपावली के दौरान पड़ने वाले सप्ताह में आएगी और ‘टूनपुर का सुपर हीरो’ दिसंबर में रिलीज होगी। उनकी एक और फिल्म ‘दिल तो बच्चा है जी‘ पूरी होने की प्रक्रिया में है। देखा जाए तो अजय इन दिनों कितने भाग्यशाली हैं। इधर उनको बेटे की खुशी है और उधर उनकी फिल्मों के रिलीज का सिलसिला चल रहा है। उनके पास इतना काम होने की वजह से उनका अपना होम प्रोडक्शन का काम 2011 के अंत तक खिसक गया है। उनका कहना है- ‘मैं अपने प्रोडक्शन की एक ही फिल्म डायरेक्ट करूंगा। दूसरी रोहित शेट्टी संभालेंगे।’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दूसरी बार भाग्यशाली बने अजय