DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मनप्रीत बादल के नई पार्टी गठित करने के संकेत

पंजाब के पूर्व वित्त मंत्री मनप्रीत बादल ने उचित समय पर नई पार्टी का गठने करने का संकेत दिया है। बादल ने दशहरा के एक कार्यक्रम में भाग लेने के दौरान इस बात के संकेत दिए हैं। उन्होंने कहा कि विजयदशमी के पर्व को असत्य पर सत्य की विजय और अधर्म पर धर्म की विजय का प्रतीक बताते हुए कहा कि सत्य की सदैव जीत होती है। वह समय आने पर पार्टी का गठन करेंगे और इसके लिए सही वक्त का इंतजार है। फिलहाल वह पंजाब के सियासी हालात का अध्ययन कर रहे हैं और अपना एजेंडा लोगों के सामने रखेंगे। कांग्रेस में जाने का उनका कोई विचार नहीं है।

उन्होंने कहा कि यह भी कोई बात हुई कि सियासत की एक ट्रेन से उतरे और बगैर सोचे विचारे दूसरी पर सवार हो लिए। बादल ने कहा कि सरकार और दल आज इतने कमजोर हो गए हैं कि उन्हें अपनी लाज बचाने को ओच्छी हरकतों का सहारा लेना पड़ रहा है। मंत्री पद से इस्तीफा दिए आज उन्हें जुम्मा-जुम्मा तीन दिन ही हुए हैं और इन दिनों में तीन बड़ी घटनाएं घट गईं जो अकाली दल के लिए शर्म की बात है।

मनप्रीत बादल ने उन घटनाओं का जिक्र करते हुए बताया कि सिविल सचिवालय में उनके कार्यालय में तोड़फोड़ होना, गिदडबाहा में कल हुई उनकी बैठक में आने वाले उनके समर्थकों को डराया धमकाया जाना और गुरदासपुर जिले में काहनूवां कस्बे में उस गुरूद्वारा साहिब पर ताले जड़ दिए गए जहां वह आज अपने समर्थकों की बैठक को संबोधित करने वाले थे।

उन्होंने बकहा कि लोकसंपर्क मंत्री सेवासिंह सेखवां तथा एकसजीपीसी की पूर्व प्रधान बीबी जागीर कौर के निर्देश पर गुरूद्वारे पर ताले लगाए गए जो गुरूद्वारा साहिब का अपमान है। उन्होंने अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार से इस मामले को गंभीरता से लेते हुए गुयधाम की मर्यादा भंग करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने का आग्रह किया और तत्काल ऐसे लोगों को अकाल तख्त पर बुलवाया जाए।

अकाली दल से निकाले गए मुख्यमंत्री के भतीजे बादल ने कहा कि मंत्री पद उनके ताऊ जी मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने उन्हें सौंपा था जिसे लोटा दिया गया है लेकिन गिदड़बाहा विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व तो अकाली हलके की जनता की अमानत है और अमानत में खयानत करने की उनकी आदत नहीं है। इसलिए वह जनता की इच्छा अनुसार विधायक बने रहेंगे।

अकाली सरकार तथा पार्टी नेताओं की ओर से अपने ऊपर लगाए अनुशासनहीनता के आरोपों को खारिज करते हुए बादल ने कहा कि पंजाब के कर्जे माफी की बात उठाना यदि अनुशासनहीनता है तो वह ऐसी गुस्ताखी आगे भी करते रहेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मनप्रीत बादल के नई पार्टी गठित करने के संकेत