DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तेजी में निवेशक

शेयर बाजार में कई तरह के निवेशक होते हैं। कुछ शेयर बाजार की उठा-पटक पर निरंतर अपनी नजर बनाए रखते हुए सक्रिय रहते हैं और उस अनुरूप अपने पोर्टफोलियो में बदलाव करते रहते हैं, तो कुछ किसी समय विशेष पर किसी खास इक्विटी में निवेश कर मार्जिन कमा कर बाजार से बाहर हो जाते हैं। बाजार में लगातार सक्रिय रहने वाले निवेशकों के सामने कुछ प्रश्न हमेशा बने रहते हैं, मसलन कौन से शेयर खरीदे जाएं? बाजार में क्या चल रहा है या कौन से शेयर बेचकर अपने पोर्टफोलियो में नए शेयरों को जगह देनी चाहिए? जिस समय बाजार में तेजी होती है, उस समय ऐसे प्रश्नों की उत्सुकता और अधिक बढ़ जाती है।

हालांकि इन प्रश्नों का उत्तर इस पर भी निर्भर करता है कि आप दीर्घकालिक निवेश करना चाहते हैं अथवा अल्पकालिक। यह दोनों किसी निवेशक की निर्णय क्षमता को प्रभावित करते हैं। दीर्घकालिक निवेशक अल्पकालिक नुकसान को नजरअंदाज करके लंबे समय में ऊंची रिटर्न हासिल करने के लिए प्रवृत्त रहता है। वहीं अल्पकालिक निवेशक अपनी पूंजी को सुरक्षित रखने के लिए नेगेटिव रिटर्न के लिए भी तैयार रहता है।

तेजी के समय अमूमन सभी शेयर अच्छा प्रदर्शन कर रहे होते हैं। पर ऐसे शेयरों पर आप अधिक विश्वास कर सकते हैं जिनके आने वाले सीजन में और अधिक अच्छा प्रदर्शन करने की उम्मीद हो। बाजार की तेजी अपने अच्छे शेयरों को बेचकर लाभ अर्जित करने के लिए प्रेरित करती है।

हालांकि इस संबंध में विशेषज्ञों का यह भी मानना है कि तेजी के समय में भी यदि कोई शेयर या फंड अच्छा प्रदर्शन नहीं करता तो उसे बेचने में ही भलाई है। यदि आपके पोर्टफोलियो में बहुत सारे स्टॉक या फंड हैं, तो किसी एक से बहुत अधिक रिटर्न हासिल करके आप पोर्टफोलियो में बड़ा बदलाव नहीं कर सकेंगे। तेजी के समय आप अपने पोर्टफोलियो से कुछ स्टॉक या फंड हटाकर अधिक मजबूती दे सकते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तेजी में निवेशक