अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अपना आकलन

क्या मुझे इस नौकरी के लिए आवेदन करना चाहिए? क्या मुझे नौकरी पर रखा जाएगा? मेरी पहली नौकरी! मुझे अच्छे अंक मिलेंगे या नहीं? अब तक की करियर यात्रा कैसी रही? इन प्रश्नों को पढ़ते समय अपनी टोन और इन प्रश्नों के संबंध में अपने भावों को जानने का प्रयास करें। क्या आप कभी अपनी सोच की बाधाओं से आगे निकले? कभी खुद को अच्छे कामों के लिए क्रेडिट दिया जिन्होंने आपकी सफलता के ग्राफ को ऊपर चढ़ाया? या फिर कभी खुद को ऐसे अवसर का लाभ उठाने से रोका जो आपको करियर में आगे ले जा सकते थे?

सोच पर निर्भर है: कॉलेज में ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी करते समय आप कॉरपोरेट क्षेत्र में बड़ा मुकाम हासिल करने के बारे में सोचते थे। फिर किसी कंपनी में डरते-घबराते इंटरव्यू दिया, जहां आपकी नॉलेज, उत्साह और आगे बढ़ने की इच्छा का आकलन किया गया। आपको नौकरी मिली। आपने अपना पहला कदम पूरी सावधानी के साथ बढ़ाया। समय और निरंतर कड़ी मेहनत के साथ आपने कार्यस्थल पर अपने लिए जगह भी बना ली।  पर कभी आपने यह सोचा कि आप यह सब इसलिए कर पाए क्योंकि आप खुद को ऐसा करने के लिए मानसिक रूप से तैयार कर सके थे?

सफलता की चाह आपके उस डर को दूर करती है, जो आपको अपने ही दायरे में सिमटकर रहने को बाध्य करता है। करियर में हर कदम पर आपको नई चुनौतियों का सामना करने को मिलेगा। खास बात यह है कि प्रोफेशनल जीवन में आज जो बातें चुनौती लग रही हैं वह कल चुनौती नहीं होंगी। उस वक्त आप दूसरी बड़ी चुनौतियां का सामना कर रहे होंगे। यह विश्वास करना कि आप किसी काम को कर सकते हैं, अपनी नकारात्मक सोच और करियर में पीछे करने वाले तत्वों का सफलतापूर्वक सामना करने में सक्षम बनाता है। गंभीर और पूरे समर्पण के साथ किए गए प्रयास सफलता की ओर ले जाने वाली सीढ़ी है।

डर का सामना: अनजानी राह के डर को उस दिशा में कदम बढ़ाकर ही दूर किया जा सकता है। अपनी पूर्व उपलब्धियों पर विश्वास करें। उनके लिए खुद को क्रेडिट दें। नई चुनौतियों की ओर बढ़ें। हमारे आसपास कितने ही कार्य करने को होते हैं, पर यदि हम उसके लिए प्रयास ही नहीं करेंगे तो उन्हें कभी जान भी नहीं सकेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अपना आकलन