अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चालीस साल से बना रहे हैं रावण

रावण और पप्पी राज का साथ चालीस सालों से भी अधिक पुराना है। दशहरे के करीब एक से डेढ़ महीने पहले से ही उन्हें रावण बनाने का काम करना शुरू करना पड़ता है, क्योंकि शहर में जलने वाले ज्यादातर रावण उनसे ही बनवाए जाते हैं। इस बार भी पप्पी राज ने 15 रावण बनाए हैं। सालभर दशहरे का इंतजार करने वाले पप्पी राज का कहना है कि अब तो रावण से खास लगाव महसूस होता है।


महज पांच साल की उम्र से ही पिता रमेश चंद्र के साथ रावण बनाने का काम शुरू किया बचपन में जब अपने बनाए रावण को जलता देखते थे तो दुख भी लगता था लेकिन जब बड़े हुए तो समझ गए कि रावण नहीं जलेगा तो बुराई पर अच्छाई की जीत कैसे होगी। अब दिल्ली से बांस और कागज मंगवाकर अपने 17 कारीगरों की मदद से धानक समाज की धर्मशाला में रावण बनाने की पारिवारिक परंपरा को आगे बढ़ा रहे हैं। 15 फुट से लेकर 55 फ़ुट तक के रावण बनाने वाले पप्पी राज कहते हैं कि राम तो सबको देते हैं लेकिन कुछ लोगों के जीवन में रावण का भी काफी महत्व होता है और मैं भी उन लोगों में से एक हूं।
पप्पी राज बताते हैं कि जैसे-जैसे दशहरा नजदीक आता जाता है काम की रफ्तार तेज करनी पड़ती है इसलिए वो कई दिनों से महज दो घंटे सोकर ही काम चला रहे हैं। सुबह चार बजे तक काम करने के बाद छह बजे से फिर से काम में जुट जाते हैं पप्पी राज । इस बीच कई बार उनके पास खाने की फुरसत भी नहीं होती। पुतलों की लागत के बारे में पप्पी राज बताते हैं कि छोटे पुतलों को बनाने में दस हजार से लेकर बड़े पुतलों को बनाने में बीस से पच्चीस हजार तक की लागत आ जाती है। पप्पी राज बताते हैं कि इस बार महंगाई बढ़ने का असर बांस और कागज की कीमतों पर भी पड़ा है इसलिए बचत कम होने के पूरे आसार हैं फिलहाल वो रावण, मेघनाद और कुंभकर्ण के पुतले बनाने में व्यस्त हैं इसलिए खर्चे और मुनाफे का अनुमान दशहरे के बाद ही लगाएंगे। छोटे कद के पप्पीराज पेशे से हेयर ड्रेसर हैं लेकिन उन्हें लोग शहर में लंबे-चौड़े रावण बनाने वाले शख्स के रूप में ही जानते हैं इसके अलावा अपने भाई की वाद्ययंत्रों की मरम्मत वाली दुकान में भी हाथ बंटाते हैं। पप्पी राज कहते हैं कि गाने का शौक भी है लेकिन व्यस्तता ज्यादा होने की वजह से गाने के लिए वक्त निकालना मुश्किल होता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चालीस साल से बना रहे हैं रावण