अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मनप्रीत के चहेतों पर शिकंजा कसने की मुहिम तेज

शिरोमणि अकाली दल (बादल) से निलंबित किए जाने के बाद पंजाब के पूर्व वित्त मंत्री एवं मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के भतीजे मनप्रीत बादल के समर्थकों पर शिकंजा कसे जाने की मुहिम तेज कर दी गई है। उल्लेखनीय है कि मनप्रीत बादल ने अपने विधानसभा क्षेत्र में समर्थकों तथा कार्यकर्ताओं की शनिवार को एक महत्वपूर्ण बैठक करके आगे की रणनीति तय करने का फैसला किया है।

उन्होंने शुक्रवार को कहा था कि वह जनता की अदालत में जाकर अपने साथ हुए अन्याय के खिलाफ जेहाद छेड़ने का फैसला करेंगे और जनता जनार्दन जो कहेगी उसके हिसाब से आगे का विचार करेंगे।
 इससे पहले ही मनप्रीत बादल के हलके के अकाली नेताओं तथा कार्यकर्ताओं पर उनसे दूरी बनाए रखने तथा उनके प्रति निष्ठा न रखने का दबाव बनाना शुरू कर दिया गया है।

इससे पहले कुछ विधायकों और उनके समर्थकों पर दबाव बनाया गया था। इसके अलावा राज्य के अकाली दल के जिला अध्यक्षों को चंडीगढ़ बुलवाकर उनसे मनप्रीत बादल के खिलाफ बुलवाया गया था। इसी क्रम में गिदड़बाहा हलके के सभी पार्टी कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को ऐलान किया कि वे सभी पार्टी अध्यक्ष सुखबीर बादल की नीतियों में विश्वास रखते हैं और मनप्रीत बादल तथा अकाली दल के अन्य बागी नेताओं के साथ उनका कोई संबंध नहीं है। ये सभी नेता पिछले पंद्रह सालों से मनप्रीत बादल की एक आवाज पर खड़े होने वालों में से हैं।

इस घटनाक्रम के बाद मनप्रीत बादल के हलके के पुलिस उपाधीक्षक जगजीत सिंह भुगताना का चंडीगढ़ तबादला कर दिया गया है। गिदड़बाहा जिले के मंडीबोर्ड के जूनियर इंजीनियर विपिन खन्ना को गुरदासपुर भेज दिया गया है। बताया जाता है अगले कुछ दिनों में और भी तबादले हो सकते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मनप्रीत के चहेतों पर शिकंजा कसने की मुहिम तेज