अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रिलायंस पावर, आरएनआरएल के विलय को हाईकोर्ट की मंजूरी

रिलायंस पावर, आरएनआरएल के विलय को हाईकोर्ट की मंजूरी

बंबई हाईकोर्ट ने अनिल धीरूभाई अंबानी समूह की कंपनियों रिलायंस पावर और रिलायंस नैचुरल रिसोर्सेज लि़ (आरएनआरएल) के विलय को मंजूरी दे दी।
   
कंपनियों ने बंबई शेयर बाजार को अलग-अलग दी सूचनाओं में कहा है कि इस विलय के तहत आरएनआरएल के पांच रुपये के अंकित मूल्य के प्रत्येक चार शेयरों पर रिलायंस पावर दस रुपये अंकित मूल्य का एक शेयर जारी और आवंटित करेगी।

विलय के बाद रिलायंस पावर के शेयरधारकों की संख्या वर्तमान के 35 लाख से बढ़कर 60 लाख हो जाएगी। सूचना में कहा गया है कि इस व्यवस्था से आरएनआरएल के 1,900 करोड़ रुपये के योगदान से रिलायंस पावर की नेटवर्थ करीब 16,000 करोड़ रुपये बढ़ जाएगी।

इसके अतिरिक्त आरएनआरएल के रिलायंस इंडस्ट्रीज के साथ गैस आपूर्ति करार से रिलायंस पावर की 8,000 मेगावाट की गैस आधारित बिजली उत्पादन संयंत्र योजना रफ्तार पकड़ेगी। इसके साथ ही वह आरएनआरएल की कोल बेड मीथेन परियोजना की गैस का भी इस्तेमाल कर सकेगी। माना जा रहा है कि इस विलय से आरएनआरएल के शेयरधारक लाभ में रहेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रिलायंस पावर, आरएनआरएल के विलय को हाईकोर्ट की मंजूरी