DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बॉस डे के अवसर पर जानिए बॉस की बदलती छवि

बॉस डे के अवसर पर जानिए बॉस की बदलती छवि

दफ्तरों में कड़क शख्स के तौर पर मशहूर बॉस की छवि अब बदलने लगी है और अब वे कर्मचारियों से दोस्ताना संबंधों का महत्व समझने लगे हैं, यही वजह है कि पहले की तरह छोटी-छोटी बातों पर नाराज होने के बजाय, वे अब कर्मचारियों की बातें सुनते हैं तथा हालात के अनुरूप समाधान भी निकालते हैं।

विशेषज्ञों की राय में, बॉस के इस बदलाव का कारण हालात हैं। वह कहते हैं कि प्रतिस्पर्धा तो आज पहले से कहीं ज्यादा है लेकिन अब इस बात को महत्व दिया जाता है कि कर्मचारियों के साथ अच्छा व्यवहार उन्हें अधिक काम करने के लिए प्रेरित करता है।

एक बहुराष्ट्रीय कंपनी में मुख्य कार्याधिकारी के पद पर काम करने के बाद हाल ही में सेवानिवृत्त हुए जी के गोयल कहते हैं बॉस जब तक कर्मचारियों के करीब नहीं आएगा, उसका सफल होना मुश्किल होता है। कर्मचारियों की समस्याओं को सुनना, उन्हें दूर करना, गल्तियों पर उन्हें फटकारने के बजाय समझाना, दूसरों पर दोषारोपण करने से बचना, स्वयं को अहंकार से दूर रखना म् म् इन बातों पर अमल करने के बाद एक बॉस अपने कर्मचारियों का आउटपुट बढ़ा सकता है। यही वजह है कि बॉस का रवैया अब बदल रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बॉस डे के अवसर पर जानिए बॉस की बदलती छवि