अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शीला से नाराज उपराज्यपाल ने प्रधानमंत्री को लिखा पत्र

एक अप्रत्याशित घटनाक्रम के तहत दिल्ली के उपराज्यपाल तेजेंद्र खन्ना ने शीला दीक्षित के विरोध में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को पत्र लिखकर कहा है कि खेलगांव में सफाई का पूरा श्रेय राज्य की मुख्यमंत्री खुद ले रही हैं और इससे खेल गांव में काम कर चुके अन्य एजेंसियों के कर्मी हतोत्साहित हुए हैं।

गत सात अक्टूबर को लिखे पत्र में खन्ना ने कहा कि शीला ने ये बयान दिए थे कि खेलगांव की तस्वीर कुछ ही दिनों के भीतर एक ही एजेंसी की बदौलत बदल गई थी। उनका यह बयान तथ्यात्मक रूप से गलत है। उपराज्यपाल के इस पत्र की प्रतियां गृह मंत्रालय और शहरी विकास मंत्रालय को भेजी गई है।

सूत्रों के मुताबिक उपराज्यपाल ने यह भी कहा कि जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम के पास गिरे फुट ओवर ब्रिज को सेना से दोबारा बनवाने का सुझाव भी उन्होंने दिया था। लेकिन अब ऐसा प्रतीत हो रहा है जैसे दिल्ली सरकार ने यह सुझाव दिया। खन्ना ने कहा कि मुख्यमंत्री के निर्देश पर एमसीडी और एनडीएमसी द्वारा दिये गए अतिरिक्त कर्मी मुख्य रूप से खेलगांव के आवासीय इलाके के बाहर की सफाई के लिये नियुक्त किए गए।

एनडीएमसी के कुछ कर्मियों को इमारतों की लिफ्ट और सीढ़ियों की सफाई के काम में लिया गया। उपराज्यपाल ने अपने पत्र में कहा कि इनमें से कोई भी कर्मी शौचालय या अन्य जगहों की पूरी सफाई के लिए तैनात नहीं किया गया। उन्होंने कहा कि शीला का दावा अन्य एजेंसियों के उन कर्मियों को हतोत्साहित कर रहा है जो पूरी लगन के साथ काम कर रहे थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शीला से नाराज उपराज्यपाल ने प्रधानमंत्री को लिखा पत्र