DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रधानमंत्री को निराश कर गई पुरुष हॉकी टीम

प्रधानमंत्री को निराश कर गई पुरुष हॉकी टीम

प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह राष्ट्रमंडल खेलों के हॉकी स्वर्ण के लिए भारत और ऑस्ट्रेलिया का मुकाबला देखने मेजर ध्यानचंद नेशनल स्टेडियम पहुंचे लेकिन भारतीय टीम ने बेहद निराशाजनक प्रदर्शन करते हुए 0-8 की पराजय झेलकर उन्हें खासा निराश कर दिया।
 
यह पहला मौका था जब प्रधानमंत्री इन खेलों में किसी मुकाबले को देखने पहुंचे। प्रधानमंत्री के साथ संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन, संप्रग और कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी बैठी हुई थीं। इसी पंक्ति में थोड़े फासले पर खेल मंत्री एम एस गिल और आयोजन समिति के अध्यक्ष सुरेश कलमाडी भी बैठे हुए थे।
 
लेकिन भारतीय टीम प्रधानमंत्री की मौजूदगी से भी कोई प्रेरणा नहीं ले सकी और उसने पूरी तरह समर्पण करते हुए यह मुकाबला एक तरफा अंदाज़ में गंवा दिया। सोनिया ने इससे पहले हॉकी टूर्नामेंट में भारत और पाकिस्तान का मैच भी देखा था लेकिन उस समय भारत 7-4 से जीत गया था। लेकिन गुरुवार को सोनिया को भी भारतीय टीम के प्रदर्शन से निराश होना पड़ा।
 
मैच में भारतीय खिलाड़ियों ने जब भी कोई मूव बनाया तो सोनिया ने पूरी उत्सुकता दिखाई कि भारतीय खिलाड़ी क्या करते हैं लेकिन मूव के बेकार जाने पर उनके चेहरे पर अफसोस के भाव साफ दिखाई दे रहे थे। भारतीय टीम के लिए इतनी बड़ी पराजय में संतोष की बात सिर्फ यही रही कि उसने पहली बार राष्ट्रमंडल खेलों की हॉकी प्रतियोगिता का फाइनल खेला और उसे रजत पदक मिला।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:प्रधानमंत्री को निराश कर गई पुरुष हॉकी टीम