अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बरेली मंडल में 44 हजार लीटर शराब बरामद

उत्तर प्रदेश में हो रहे पंचायत चुनाव में शराब मांग में सबसे ज्यादा इजाफा हुआ है और आसपास राज्यों से तस्करी के मामले भी बढ़े हैं। तस्करी और अवैध शराब के खिलाफ बरेली मंडल में विभागीय प्रवर्तन दल ने जोरदार छापेमारी शुरु करते हुए लगभग 44 हजार लीटर बरामद कर 877 मामले दर्ज किए हैं।

पंचायत चुनाव प्रत्याशी अपने वोटरों को लुभाने के लिए शराब का सबसे ज्यादा इस्तेमाल कर रहे है। बरेली मंडल के चारों जिलों बरेली, बदायूं, पीलीभीत और शाहजहांपुर में हर दिन कम से कम दो लाख लीटर शराब खपत हो रही है। पंचायत चुनाव प्रत्याशी सस्ती शराब की मांग कर रहे है। इससे मध्य प्रदेश, हरियाणा और आसपास राज्यों से शराब तस्करी में इजाफा हुआ है। आसपास राज्यों में अंग्रेजी शराब बोतलें 50 से 60 रुपए कीमत में मौजूद है। इसलिए तस्कर सस्ती शराब लाकर उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों में खपत कर रहे हैं। साथ ही अवैध कच्ची शराब का उत्पादन भी बढ़ा है। तस्करी कर लाई जा रही अंग्रेजी शराब और कच्ची अवैध शराब पंचायत चुनावों में ही इस्तेमाल हो रही है।

बरेली मंडल में तस्करी और अवैध शराब के खिलाफ विभागीय प्रवर्तन दल ने जोरदार अभियान शुरु किया है। मंडलीय प्रवर्तन दल प्रभारी तथा उपायुक्त आबकारी रविशंकर शुक्ला ने अवैध शराब के खिलाफ अभियान शुरु कराया है। जिससे करीब 44 हजार लीटर अवैध शराब बरामद हुई। शुक्ला ने आज बताया कि बरेली मंडल में अवैध शराब के खिलाफ 877 अभियोग दर्ज कराए गए है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बरेली मंडल में 44 हजार लीटर शराब बरामद