DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

समुद्री झींगा मछली की नयी प्रजाति का पता चला

जीव वैज्ञानिकों ने समुद्री झींगा मछली की दो नयी प्रजाति को खोजने का दावा किया है। जीव वैज्ञानिकों ने आस्ट्रेलिया के जलीय क्षेत्र में दो नयी प्रजातियों के साथ ही छह अन्य प्रजातियों को भी खोजने में सफलता प्राप्त हुयी है।

आस्ट्रेलिया के विक्टोरिया संग्रहालय के डा.जो टेलर के नेतृत्व में अंतरराष्ट्रीय दल ने झींगा मछली की नयी प्रजाति मुनीडाप्सिस को खोजा है। यह मछलियों के विविध प्रजातियों में से एक है जिसका नाम इस दल ने मुनीडाप्सिस कामरेज रखा है।

मुनीडाप्सिस जीनस [स्पीशीज अथवा प्रजातियों का बड़ा समूह जिसके अंतर्गत कई प्रजातियां आती है] के अंर्तगत पाये जाने वाले जीव काफी दुर्लभ होते है जो गहरे समुद्र में पाये जाने वाले जीवों में से एक है।

जीव वैज्ञानिकों के अनुसार यह जीन विविधता के लिहाज से काफी बड़ा समूह है जिसमें दुनिया भर में पाये जाने वाले समुद्री मछलियों की करीब 225 प्रजतियां शामिल है। मुनीडाप्सिस प्रजाति का वितरण जमीन से करीब 500 मीटर नीचे के तल पर होता है। इनमें से करीब बीस प्रतिशत समुद्र के गहरे तल पर पाये जाते है जिसकी गहराई 3000 मीटर से भी अधिक होती है।

इनमें से एक प्रजाति को टाइटेनिक के मलबे से पाया गया जो समुद्र के नीचे अथाह गहराई में डूब चुका था। इस नयी प्रजाति की खोज समुद्री जीवों की गणना से संबंधित ए डिकेड आफ डिस्कवरी  के प्रयासों से मेल खाता है। जिसे दुनिया भर के अस्सी देशों करीब 2700 वैज्ञानिकों ने समुद्री जीवों की विविधता को जानने के लिहाज से जारी किया था। इस नयी खोज से संबंधित जानकारी का प्रकाशन जूटाक्सा पत्रिका में किया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:समुद्री झींगा मछली की नयी प्रजाति का पता चला