DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हिमाचल की किन्नौरी शाल को मिला जीआई का तमगा

हिमाचल प्रदेश की प्रसिद्ध किन्नौरी शाल को भौगोलिक संकेत (जीआई) का तमगा हासिल हो गया है। इस तरह से किन्नौरी शाल उन वस्तुओं की सूची में शामिल हो गयी है जिन्हें बौद्धिक संपदा अधिकार का संरक्षण प्राप्त है।

हिमाचल प्रदेश पेटेंट सूचना केन्द्र के एक प्रवक्ता ने कहा कि किन्नौरी शाल को जीआई कानून के तहत पंजीकृत किया गया है। इससे पहले प्रदेश के कुल्लू शाल, कांगड़ा की चाय और चंबा का एमाल पहले ही संरक्षित वस्तुओं के क्लब में शामिल हैं। किन्नौरी शाल के जीआई के अंतर्गत पंजीकृत होने से इस शाल का अन्यत्र कहीं भी इस नाम से उत्पादन नहीं किया जा सकेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हिमाचल की किन्नौरी शाल को मिला जीआई का तमगा