अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फूड हैबिट्स: आओ ट्विस्ट करें

बच्चों, क्या तुम जानते हो कि दादा-दादी, नाना-नानी और मम्मी-पापा का लाइफस्टाइल तुमसे कितना अलग था! तब लाइफ इतनी ईजी नहीं थी, इतना आराम नहीं था। हर काम बड़ी मुश्किल से, कड़ी मेहनत के बाद पूरा किया जाता था। न तो गाड़ियां थीं और न ही टेलीविजन, कंप्यूटर, टेलीफोन या मोबाइल फोन। सोचो, किसी भी काम को पूरा करना कितना मुश्किल होता होगा! लेकिन तब एक अच्छी बात भी थी। उस दौर का खाना यम्मी और एनर्जी गिविंग होता था। इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि तब बाजार में मिलावट वाली चीजें नहीं बेची जाती थीं और न ही उसे कामवाली बाई बनाती थी। वह तो मां के हाथों का टेस्टी, मुंह में पानी ला देने वाला जबरदस्त खाना होता था! उसे खाकर ही तो इतनी मेहनत करने की पावर मिलती थी!

आज सब कुछ पूरी तरह से बदल चुका है। न तो उतनी फिजिकल एक्टिविटी वाले काम रह गए हैं और न ही मां के हाथ का बना वैसा टेस्टी फूड। पापा के साथ-साथ अब तुम्हारी मां को भी काम पर जाना होता है, ऐसे में उनके पास इतना टाइम नहीं रह जाता कि तुम्हारे लिए स्वादिष्ट और हैल्दी खाना तैयार कर पाएं। तभी तो तुम रेस्टोरेंट जाकर जंक फूड खाना प्रेफर करने लगे हो, जो कि हेल्थ के लिए बिल्कुल भी अच्छा नहीं है। यदि तुम भी पहले के लोगों की तरह स्ट्रांग बनना चाहते हो तो अपना लाइफस्टाइल चेंज करने की कोशिश करो। अब जब तुमने ऐसा करने का मन बना ही लिया है तो क्यों न आज से ही ऐसा करते हैं।

हैल्दी डाइट लो। हर तरह के फूड टेस्ट करना शुरू करो।
ज्यादा फैट और शुगर वाली डिशेज या ड्रिंक्स कम से कम लो। कभी-कभार पार्टी या फंक्शन में डेजर्ट्स ले सकते हो।
रेगुलर मील और स्नैक्स शड्यूल तैयार करके धीरे-धीरे अपनी इस आदत को दूर करने की कोशिश कर सकते हो।
जैसे तुम डेली रूटीन तैयार करते हो, ठीक उसी तरह हैल्दी डाइट चार्ट भी तैयार कर लो। इसमें अपनी पसंद के साथ-साथ अपने फेवरेट्स भी ऐड कर लो, लेकिन ध्यान रखना कि वे हैल्दी डाइट चार्ट में ऐड हो सकते हैं या नहीं!
जितनी भूख हो, उतना ही खाओ।
दिमाग तेज करने के लिए फैट फ्री या लो फैट मिल्क लो।
ज्यादा से ज्यादा पानी पीने की आदत डालो।
सचिन तेंदुलकर, सायना नेहवाल, सलमान खान, कैटरीना कैफ जैसे प्लेयर्स, एक्टर्स या फिर मम्मी-पापा को अपना रोल मॉडल बनाओ और उनकी तरह एक्सरसाइजेज और खाने-पीने की आदतें अपने अंदर डालो।
कोई हैल्दी डिश यदि तुम्हें अच्छी नहीं लगती, तब भी उसे अपनी प्लेट में ऐड करो। समय लगेगा, लेकिन धीरे-धीरे वह डिश तुम्हारी पसंद में शामिल हो जाएगी।
सुबह-सवेरे उठ कर एक्सरसाइज, योग और मेडिटशन करने की आदत डालो।
क्रिकेट, हॉकी, बैडमिंटन, स्विमिंग, स्किपिंग जैसे घर से बाहर खेले जाने वाले खेलों को भी अपने डेली रूटीन में समय दो।
दिनभर में दो से ज्यादा घंटे टेलीविजन या कंप्यूटर के सामने मत बैठना। अपने दो साल तक के छोटे भाई-बहन को तो इनसे पूरी तरह दूर ही रखना।
फैमिली के साथ बैठ कर रेगुलर ब्रेकफास्ट करो। पूरी लाइफ तुम्हें इसके फायदे मिलेंगे।
ग्रॉसरी शॉपिंग और मील प्लानिंग में मम्मी की हैल्प करना शुरू करो। इससे तुम्हें फूड प्लानिंग से लेकर कुकिंग तक की कई बातें सीखने को मिलेंगी।
घर में अवेलेबल मसालों के नाम और किचन में मौजूद डिब्बों की गिनती करते हुए छोटे भाई-बहन को तुम कई बातें सिखा भी सकते हो।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फूड हैबिट्स: आओ ट्विस्ट करें