DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गंगा में आई बाढ़ से मंदिर व घाट मिट्टी से ढके

उत्तर प्रदेश की तीर्थनगरी वाराणसी में गंगा में आई बाढ़ का पानी काफी उतर गया है लेकिन बाढ़ में आई मिट्टी से ऐतिहासिक घाट एवं किनारे स्थित मंदिर पूरी से ढक गए हैं। इस साल गंगा में आई बाढ़ का पानी एक माह से ज्यादा समय तक टिके रहने की वजह से घाट एवं किनारे पर स्थित मंदिरो में टनो मिट्टी जमा हो गई है। मिट्टी जमा होने के कारण घाटो की सीढिया एवं मंदिर में स्थित देवी व देवताओ की मूर्तियां मिट्टी में दबी है। बाढ़ की मिट्टी जमा होने के कारण पर्यटकों एवं श्रद्धालुओं तथा स्नानार्थियों को काफी कठिनाई हो रही है।
 
घाटों पर मिट्टी जमा होने के कारण बदबू आ रही है एवं बीमारियों के फैलने का खतरा पैदा हो गया है। गौरतलब है कि दुर्गापूजा के बाद वाराणसी समेत अन्य जिलों की मूर्तियों का विसर्जन गंगा के किनारे होता है अगर यही हाल रहा तो मूर्तियो के विसर्जन के लिए समस्या पैदा हो सकती है।
 
सबसे ज्यादा समस्या मणिकर्णिका एवं हरिश्चन्द्र श्मशान घाटों पर दाह संस्कार करने वालों को हो रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गंगा में बाढ़ से मंदिर व घाट मिट्टी से ढके