अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार की प्रीति बनी पश्चिम रेलवे की पहली महिला चालक

लाखों मुंबईवासियों की तरह ही 34 वर्षीय प्रीति कुमारी ने भी मंगलवार को लोकल ट्रेन से यात्रा की लेकिन प्रीति और अन्य लोगों में यह फर्क था कि उन्होंने ट्रेन चलाई और इस तरह वह पश्चिम रेलवे की पहली महिला चालक बन गईं।
   
बिहार की रहने वाली प्रीति ने चर्चगेट और बोरिवली के बीच अपराहन 2:29 बजे की लोकल चलाई। उन्हें एक मुख्य लोको निरीक्षक निर्देशित कर रहे थे।
   
छह महीने तक प्रशिक्षण लेने के बाद इस काम के लिए उत्साहित प्रीति ने कहा कि वह इस उपलब्धि से खुश है । मंगलवार को पश्चिम रेलवे में काम शुरू करने वाले तीन लोगों में से वह एक हैं। उन्होंने मंदिर जाकर दिन की शुरूआत की।
   
इस पद के लिए अगस्त 2009 में 69 अभ्यर्थियों ने प्रशिक्षण शुरू किया था जिनमें से तीन को आज शामिल किया गया। प्रीति भारतीय रेलवे में इस पद पर सीधी नियुक्ति पाने वाली भी पहली महिला हैं। मध्य रेलवे में ट्रेन चलाने वाली सुरेखा यादव एशिया की पहली महिल ट्रेन चालक हैं लेकिन उन्होंने सहायक चालक के पद पर रहते हुए यह काम किया।
   
प्रीति बिहार के बांका जिले की रहने वाली हैं जिन्होंने इलेक्ट्रानिक्स में डिप्लोमा के अलावा बीए की डिग्री प्राप्त की है। वह उपनगर दसिहर में अपने पति के साथ रहती हैं जो भारतीय वायु सेना में कार्यरत हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिहार की प्रीति बनी पश्चिम रेलवे की पहली महिला चालक