DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विदेशी पूंजी प्रवाह को सोख लेंगे पब्लिक इश्यूः सेबी

देश में विदेशी संस्थागत निवेशकों की ओर से आ रही भारी विदेशी पूंजी के बारे में व्यक्त किये जा रहे विविध विचारों के बीच बाजार नियामक सेबी ने कहा है कि प्राथमिक पूंजी बाजार में उतरने वाले विभिन्न कंपनियों के पब्लिक इश्यू इस पूंजी को खपा लेंगे।

सेबी अध्यक्ष सी़बी़ भावे ने कहा कि यदि विदेशी संस्थागत निवेशकों से आने वाली पूंजी बाजार में पहले से मौजूद शेयरों में लगेगी तो दाम बढ़ेंगे, लेकिन नये शेयरों के बाजार में आने पर उसमें विदेशी पूंजी लगेगी तो नये इश्यू उसे खपा लेंगे।

भावे ने कहा कि मैं यह नहीं कह रहा हूं कि विदेशी संस्थागत निवेशकों का पूंजी प्रवाह चिंता का विषय है मैं यह कह रहा हूं कि नये पेपर इश्यू करना इसमें संतुलन लाएगा।

विदेशी संस्थागत निवेशकों का पूंजी प्रवाह इस साल 99,000 करोड़ रुपये से ऊपर निकल चुका है और इसके 1,00,000 करोड़ रुपये से ऊपर निकल जाने की पूरी उम्मीद है। इन संस्थानों को देश में पूंजी निवेश की अनुमति दिए जाने के बाद यह पहला मौका होगा, जब उनका निवेश इस एक लाख करोड़ रुपये से ऊपर निकल जाएगा।

कोल इंडिया लिमिटेड का मेगा पब्लिक इश्यू बाजार में उतरने वाला है। इसके जरिये सरकार को बाजार से 15,000 करोड़ रुपये जुटाए जाने की उम्मीद है। इश्यू अगले सप्ताह खुलने वाला है। इसके अलावा निजी और सार्वजनिक क्षेत्र की कुछ और कंपनियां भी आने वाले महीनों में बाजार में उतरनी वाली हैं।
   
विदेशी पूंजी प्रवाह पर अंकुश के बारे में पूछे जाने पर भावे ने कहा कि इस बारे में स्थिति की निगरानी करना और कोई भी कदम सरकार अथवा भारतीय रिजर्व बैंक को उठाना है। भारी विदेशी पूंजी प्रवाह से सितंबर महीने में बंबई शेयर बाजार का सूचकांक 10 प्रतिशत से अधिक बढ़ गया और 32 महीने बाद एक बार फिर 20,000 के आंकड़े से ऊपर निकल गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विदेशी पूंजी प्रवाह को सोख लेंगे पब्लिक इश्यूः सेबी