DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विधायकों को अयोग्य ठहराने पर सुनवाई 18 तक स्थगित

विधायकों को अयोग्य ठहराने पर सुनवाई 18 तक स्थगित

कर्नाटक उच्च न्यायालय ने विधानसभा अध्यक्ष द्वारा 16 विधायकों को अयोग्य ठहराने से जुड़े मामले में सुनवाई सोमवार तक स्थगित कर दी।

न्यायमूर्ति जेएस खेहर और न्यायमूर्ति एन कुमार ने 11 भाजपा विधायकों की ओर से दलीलें पूरी होने के बाद सुनवाई स्थगित कर दी और उनकी याचिका पर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया, लेकिन पांच निर्दलीय विधायकों के मामले में दलील जारी है। विधानसभा में कल शक्ति परीक्षण के पहले दल बदल विरोधी कानून के प्रावधानों के तहत विधानसभा अध्यक्ष के जी बोपैया ने उन्हें भी अयोग्य घोषित कर दिया था।

अयोग्य ठहराए गए 16 विधायकों ने दो रिट याचिकाएं दायर की थीं जिसमें विधानसभा अध्यक्ष के फैसले को चुनौती दी गई है। अयोग्य ठहराए गए 11 भाजपा विधायकों के वकील ने दलील दी कि उनके मुवक्किलों ने भाजपा को कभी नहीं छोड़ा, इसलिए पार्टी की स्वेच्छा से सदस्यता छोड़ने के आधार पर उन्हें अयोग्य नहीं ठहराया जा सकता।

पांच निर्दलीय विधायकों के वकील ने भी कहा कि उन्होंने कभी भाजपा को नहीं छोड़ा और वे याचिका में सुधार करना चाहते हैं। अदालत ने इसके बाद मामले की सुनवाई 18 अक्टूबर तक स्थगित कर दी। सरकार के वकीलों में से एक सतपाल जैन ने बाद में दावा किया कि अदालत ने विधानसभा अध्यक्ष के जी बोपैया के 16 विधायकों को अयोग्य ठहराने के आदेश पर कोई स्थगनादेश या राहत नहीं दी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विधायकों को अयोग्य ठहराने पर सुनवाई 18 तक स्थगित