अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेंट्रल सेक्टर स्कीम ऑफ स्कॉलरशिप फॉर कॉलेज एंड यूनिवर्सिटी स्टूडेंट्स, अब उच्च शिक्षा की राह हुई आसान

सेंट्रल सेक्टर स्कीम ऑफ स्कॉलरशिप फॉर कॉलेज एंड यूनिवर्सिटी स्टूडेंट्स, अब उच्च शिक्षा की राह हुई आसान

स्कूली शिक्षा प्राप्त करने के बाद कॉलेज व विश्वविद्यालय में उच्च शिक्षा के लिए जाने वाले युवाओं को बेहतर संसाधन मुहैया कराने और उनके कमजोर आर्थिक पक्ष को मजबूती प्रदान करने के उद्देश्य से केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) खास स्कॉलरशिप की सुविधा देता है। यह स्कॉलरशिप केन्द्रीय मानव संसाधन एवं विकास मंत्रालय के माध्यम से बोर्ड द्वारा उपलब्ध कराई जा रही है। इस स्कॉलरशिप के माध्यम से साइंस, कॉमर्स व आर्ट्स स्ट्रीम के उन युवाओं को आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है, जो 12वीं में अच्छे अंकों के साथ उत्तीर्ण होकर कॉलेज व विश्वविद्यालय पहुंचे हैं।

शैक्षणिक योग्यता

इस स्कॉलरशिप को पाने के लिए आवेदक का साइंस स्ट्रीम में बारहवीं में विभिन्न पांच विषयों में 500 में से 408 अंक प्राप्त होना जरूरी है। इसी तरह कॉमर्स के लिए यह अंक 380 है, जबकि आर्ट्स के छात्रों के लिए यह अंक 334 है।

अन्य अनिवार्य योग्यताएं

स्कॉलरशिप के लिए अन्य अनिवार्य योग्यताओं में सर्वप्रथम आवेदक का भारतीय नागरिक होना जरूरी है। इसके अलावा उस छात्र को ही इस स्कॉलरशिप का लाभ मिलेगा, जिसकी पारिवारिक आमदनी 4.5 लाख रुपये सालाना से अधिक न हो। इसके अलावा उस छात्र को भी यह स्कॉलरशिप नहीं दी जाएगी, जो पहले से ही किसी स्कॉलरशिप सुविधा का लाभ उठा रहा हो।

सहायता राशि व अवधि

ग्रेजुएशन की पढ़ाई कर रहे छात्रों को इस स्कॉलरशिप के माध्यम से 1000 रुपये प्रतिमाह तीन साल के लिए प्रदान किए जाते हैं। इसी तरह पोस्ट ग्रेजुएट व प्रोफेशनल पाठय़क्रम के छात्रों को 2000 रुपये प्रतिमाह दो साल के लिए प्रदान किए जाते हैं। ग्रेजुएशन स्तर पर प्रोफेशनल कोर्स करने वाले युवाओं को तीसरे व चौथे वर्ष के लिए 2000 रुपये प्रतिमाह की सहायता प्रदान की जाती है। हर सत्र के बाद इस स्कॉलरशिप को रिन्युअल की जरूरत रहती है, जिसके लिए कड़े दिशा-निर्देशों का पालन करना होता है। सेमेस्टर व्यवस्था हो या फिर वार्षिक, छात्र का परिणाम 60 फीसदी से कम नहीं होना चाहिए। इसी तरह हाजिरी की बात करें तो 75 फीसदी हाजिरी भी इस स्कॉलरशिप को पाने के लिए अनिवार्य है। 

स्कॉलरशिप की संख्या

संख्या की बात करें तो इसके लिए भी अलग तरह की व्यवस्था की गई है। यह स्कॉलरशिप सांइस, कॉमर्स और आर्ट्स के आवेदकों के बीच 3 अनुपात 2 अनुपात 1 में बांटी जाती है। इसके अलावा अनुसूचित जाति, जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग व शारीरिक रूप से विकलांग श्रेणी के छात्रों के लिए सरकार की ओर से निर्धारित नियमों का पालन किया जाता है।

अन्य अहम जानकारियां

इस स्कॉलरशिप को पाने के इच्छुक आवेदकों को ऑनलाइन आवेदन करना होता है, जिसके आधार पर योग्य उम्मीदवारों का चुनाव होता है। ऑनलाइन आवेदन के बाद छात्रों को उस आवेदन का प्रिंटआउट बोर्ड की ओर से उपलब्ध कराये गए पते पर भी भेजना होता है। चुने हुए छात्रों को उनके द्वारा उपलब्ध कराये गए बैंक खाते में सीधे सहायता राशि उपलब्घ कराई जाती है, यानी हर माह सहायता राशि के लिए भटकने की जरूरत भी नहीं रहती।

आवेदन व अधिक जानकारी के लिए सम्पर्क करें
सेक्शन ऑफिसर (स्कॉलरशिप), 7वां तल, सीबीएसई, शिक्षा केन्द्र, 2, कम्युनिटी सेंटर, प्रीत विहार, नई दिल्ली- 110092
वेबसाइट- www.cbse.nic.in

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अब उच्च शिक्षा की राह हुई आसान