अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बागी विधायकों की याचिका पर कर्नाटक हाईकोर्ट में सुनवाई शुरू

बागी विधायकों की याचिका पर कर्नाटक हाईकोर्ट में सुनवाई शुरू

कर्नाटक हाईकोर्ट ने मंगलवार को उन 16 विधायकों की याचिका पर सुनवाई शुरू कर दी, जिन्होंने विधानसभा अध्यक्ष केजी बोपैया द्वारा उन्हें अयोग्य करार दिये जाने के आदेश को चुनौती दी है।

याचिका दायर करने वाले विधायकों में भाजपा के 11 सदस्य शामिल हैं। विधायकों ने उन्हें अयोग्य करार दिये जाने के आदेश को वैधानिक नियमों का स्पष्ट उल्लंघन करार दिया है।

मुख्य न्यायाधीश जेएस खेहार और न्यायमूर्ति एन कुमार की खंडपीठ के समक्ष दायर याचिका में कहा गया कि संविधान में वर्णित अयोग्यता नियमों एवं प्रक्रियाओं का हर्गिज पालन नहीं किया गया।

दलीलों के दौरान बागी भाजपा विधायकों में से एक के वकील ने कहा कि विधायकों ने पार्टी से अपनी सदस्यता वापस नहीं ली है बल्कि व्यापक भ्रष्टाचार और भाई भतीजावाद के कारण येदियुरप्पा सरकार में अपना अविश्वास व्यक्त किया है।

भाजपा सरकार की ओर से पेश हुए पूर्व सालीसिटर जनरल सोली सोराबजी ने कहा कि विधानसभा अध्यक्ष का आदेश संविधान के अनुच्छेद 10 के तहत प्राकृतिक न्याय के प्रति पूरी तरह से अनुरूप था।

विधानसभा अध्यक्ष ने सोमवार को सदन में विश्वासमत से कुछ ही घंटे पहले भाजपा के 11 विधायकों और पांच निर्दलियों को अयोग्य करार दिया था। बाद में येदियुरप्पा सरकार ने विश्वासमत हासिल कर लिया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बागी विधायकों की याचिका पर कर्नाटक हाईकोर्ट में सुनवाई शुरू