अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डायरिया से तीन की मौत, 18 बीमार

अनुमंडल मुख्यालय से 30 किमी दूर नौडीहा प्रखंड क्षेत्र के रतनाग गांव के चकुआ चट्टान नामक दलित-आदिवासी बहुल टोले में रविवार को डायरिया फै लने से तीन लोगों की मौत हो गई। वहीं 18 लोग बीमार हैं। इनका इलाज छतरपुर अनुमंडलीय अस्पताल के डॉक्टरों की देखरेख में हो रहा है।

मरीजों की स्थिति में सुधार हो रहा है। मरनेवालों में अशोक सिंह की पत्नी दशनी देवी और उसकी पुत्री सुभगिया(चार वर्ष) और विनोद सिंह का पुत्र पुत्र नगीना सिंह(पांच वर्ष) शामिल हैं। ज्ञात हो कि इस टोले में कोई झोलाछाप डॉक्टर भी नहीं है, जिससे लोग इलाज कराते। बाद में डगरा गांव के रिंकू, धनजीत, कामेश्वर और मनोज सिंह आदि ने अपने पैसे खर्च कर प्रभावित लोगों का इलाज कराया।

उन्होंने इसकी जानकारी छतरपुर अनुमंडलीय अस्पताल के प्रभारी डॉ राजेश अग्रवाल को दी। प्रभारी तत्काल अपनी टीम के साथ रतनाग रवाना हो गए। गांववालों ने बताया कि प्रभारी ने सभी प्रभावित मरीजों इलाज किया। वे नक्सल प्रभावित इस क्षेत्र में आठ बजे रात तक रहे और सभी मरीजों को अनुमंडलीय अस्पताल लाने की व्यवस्था की।

सोमवार को डॉ आलोक आनंद के नेतृत्व में सुबह चकुआ चट्टान में एक और चिकित्सा टीम भेजी गई। अस्पताल में भर्ती मरीजों में उपेंद्र कुमार, रजममिया देवी, गुड्डी देवी, सोहबीला देवी, कौशल्या, सुमित्र, सुशीला, सत्येंद्र, कलौतिया, उषा, आरती, करम सिंह, विनोद सिंह शामिल हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:डायरिया से तीन की मौत, 18 बीमार