अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विदेशी खिलाड़ियों को भाया भारतीय परांठा

राष्ट्रमंडल खेल गांव की रसोई में खिलाड़ियों और अधिकारियों के लिए हर दिन 100 किग्रा चावल, 100 किग्रा दाल, 150 किग्रा आलू और 300 किग्रा पालक की खपत हो रही है। विदेशों से आए खिलाड़ियों और अधिकारियों को खेल गांव की रसोई में बन रहे परांठे और पास्ता बहुत पसंद आ रहे हैं। औसतन यहां प्रतिदिन 600 परांठे खाए जा रहे हैं।

मुख्य शेफ जतिंदर उप्पल के कहा कि कुछ खिलाड़ी और अधिकारी यहां केवल शाकाहारी भोजन ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि सबसे ज्यादा परांठे और पास्ते का मांग है। हर विदेशी सदस्य परांठे का खास तौर पर मजा ले रहा है। उप्पल ने कहा कि कम तेल में पके पंजाबी व्यंजन भी इन लोगों के मुंह में खूब पानी ला रही है। उन्होंने कहा कि पंजाबी व्यंजन सबको पसंद आ रहे हैं। चूंकि विदेशी खिलाड़ी भारतीयों के उलट कम तेल और कम मिर्च वाला भोजन पसंद आता है इसलिए हमने उनको ध्यान में रखकर व्यंजन तैयार किए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विदेशी खिलाड़ियों को भाया भारतीय परांठा