अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वित्तीय सुधार के संबंध ओबामा की यात्रा से नहीं: प्रणब

वित्तीय सुधार के संबंध ओबामा की यात्रा से नहीं: प्रणब

भारत ने सोमवार को कहा कि वित्तीय क्षेत्र के सुधार किसी बाहरी प्रभाव का नतीजा नहीं हैं और साथ ही अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की नवंबर की प्रस्तावित भारत यात्रा से पहले यह उनको खुश करने का प्रयास नहीं है।

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष और विश्व बैंक की सालाना बैठक के समापन के बाद वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी ने रविवार को यहां संवाददाताओं से कहा कि हमारा मानना है कि ये सुधार हमारी अर्थव्यवस्था की बेहतरी के लिए जरूरी हैं। इनका किसी की यात्रा से लेना देना नहीं है।

संसद के मानसून सत्र में प्रत्यक्ष कर संहिता विधेयक पेश किया गया था। वहीं पेंशन और बीमा क्षेत्र को उदार बनाने संबंधी विधेयक अभी लंबित हैं। मुखर्जी ने स्पष्ट किया कि वित्तीय क्षेत्र से जुड़े सुधार इसलिए लंबित रहे हैं, क्योंकि इन मसलों पर संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार के पास संसद में बहुमत नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वित्तीय सुधार के संबंध ओबामा की यात्रा से नहीं: प्रणब