DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बेजोड़ प्रदर्शन से फिर दूसरे नंबर पर पहुंचा भारत

बेजोड़ प्रदर्शन से फिर दूसरे नंबर पर पहुंचा भारत

भारतीय खिलाड़ियों ने एक बार फिर से बेहतरीन प्रदर्शन करके रविवार को पदकों की झड़ी लगाई जिससे भारत 19वें राष्ट्रमंडल खेलों में इंग्लैंड को पीछे छोड़कर फिर दूसरे स्थान पर पहुंच गया।

भारत ने रविवार को पांच स्वर्ण, इतने ही रजत और कांस्य सहित कुल 15 पदक हासिल करके इंग्लैंड को पीछे छोड़ा। हाकी टीम ने भी अपने पूल के करो या मरो मैच में पाकिस्तान पर 7-4 की जोरदार जीत से सेमीफाइनल में जगह बनाकर भारतीयों की खुशी दूनी कर दी।

भारत इस प्रदर्शन से इंग्लैंड को पीछे छोड़कर फिर से दूसरे स्थान पर पहुंच गया। भारत के नाम पर अब कुल 29 स्वर्ण, 22 रजत और 22 कांस्य पदक दर्ज हैं जबकि इंग्लैंड 26 स्वर्ण, 45 रजत और 30 कांस्य पदक लेकर तीसरे स्थान पर है। आस्ट्रेलिया 61 स्वर्ण, 36 रजत और 37 कांस्य पदक लेकर शीर्ष पर बना हुआ है।

भारत को अब राष्ट्रमंडल खेलों में मैनचेस्टर के 30 स्वर्ण पदक के अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन को पीछे छोड़ने के लिए केवल दो सोने के तमगे और चाहिए। मैनचेस्टर में भारोत्तोलन के प्रत्येक भार वर्ग में तीन स्वर्ण पदक दिए जाते थे जैसा कि अब नहीं होता है।

आज रांची की किशोरी तीरंदाज दीपिका कुमारी ने ओलंपिक कांस्य पदक विजेता को हराकर रिकर्व के महिला वर्ग में तो राहुल बनर्जी ने पुएष वर्ग में व्यक्तिगत स्वर्ण पदक जीता। निशानेबाज हरप्रीत सिंह ने 25 मीटर सेंटर फायर पिस्टल में सोने का तमगा हासिल किया जबकि पहलवान सुशील कुमार ने 66 किग्रा फ्रीस्टाइल में अपने हर प्रतिद्वंद्वी को कड़ा सबक सिखाकर कुश्ती में भारत को दसवां स्वर्ण पदक दिलाया।

सोमदेव देववर्मन ने अपेक्षाओं पर खरे उतरते हुए आस्ट्रेलियाई ग्रेग जोन्स को 6-4, 6-2 से हराकर टेनिस में भारत के लिए पहला स्वर्ण पदक जीता। हरप्रीत के साथ उतरे निशानेबाज विजय कुमार, कुश्ती में अनुज कुमार (84 किग्रा) और जोगिंदर कुमार (120 किग्रा) तथा एथलेटिक्स में पुएषों के चक्का फेंक में विकास गौड़ा और महिला लंबी कूद में एम प्रजूषा ने रजत पदक जीते।

ट्रैप निशानेबाज मानवजीत सिंह संधू को कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा वहीं तीरंदाज जयंत तालुकदार और राहुल की बहन डोला क्रमश: पुरुष और महिला रिकर्व में तीसरे स्थान पर रहे।

पहलवान अनिल कुमार भी कांस्य पदक जीतने में सफल रहे जबकि टेनिस में सानिया मिर्जा और रश्मि चक्रवर्ती ने हमवतन निरूपमा संजीव और पूजाश्री वेंकटेश को हराकर कांसे का तमगा हासिल किया।

दिन की शुरुआत रांची में जन्मी और आटोरिक्शा चालक की बेटी दीपिका ने स्वर्ण पदक जीतकर की। उन्होंने 2004 की एथेंस ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता इंग्लैंड की एलिसन जेम्स विलियमसन को 6-0 से हराया। यह उनका इन खेलों का दूसरा स्वर्ण पदक है। इससे पहले उन्होंने सीनियर तीरंदाज डोला बनर्जी और बोम्बायाला देवी के साथ टीम स्पर्धा का स्वर्ण पदक जीता था। राहुल बनर्जी ने बाद में पुरुषों की इसी स्पर्धा में कनाडा के जेसन लियोन को शूट आउट में हराकर सोने का तमगा हासिल किया। महिला भारोत्तोलन में पिछली चैंपियन गीता रानी अपेक्षाओं पर खरी नहीं उतर पाई और महिलाओं की 75 किग्रा में चौथे नंबर पर रही।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बेजोड़ प्रदर्शन से फिर दूसरे नंबर पर पहुंचा भारत