अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कॉलेज में बैठकर आईआईटी प्रोफेसर की कक्षाएं कर सकेंगे अटैंड

इंजीनियरिंग के छात्र अपने कॉलेज में बैठकर आईआईटी प्रोफेसर की कक्षाएं अटैंड कर सकेंगे। इन कक्षाओं वह इलेक्ट्रानिक एंड कम्युनिकेशन व इलेक्ट्रीकल इंजीनियरिंग के उन प्रेक्टीकल के बारे में जानकारी हासिल कर सकेंगे, जो आसानी से उन्हें उपलब्ध नहीं हैं। मिनिस्ट्री ऑफ एचआरडी के एजूकेशन थ्रू इनफोर्मेशन एंड टेक्नोलॉजी एंड कम्युनिकेशन प्रोग्राम के तहत आईआईटी दिल्ली से यह प्रेक्टिकल ऑन लाइन टेलीकास्ट किए जाएंगे। ग्रेटर नोएडा स्थित जीएल बजाज कॉलेज को इसका नोडल सेंटर बनाया गया है। कॉमनवेल्थ की छुट्टियों के बाद छात्रों को ऑन लाइन एजूकेशन की सौगात मिलने वाली है। कॉलेज कैंपस में ऑन लाइन लैब सेट की जा रही है, जिसमें उन प्रेक्िटकल को शामिल किया जाएगा जो पाठ्यक्रम व प्रतियोगिता दोनों के लिहाज से महत्वपूर्ण हैं। ऑन लाइन प्रेक्िटकल के लिए आईआईटी दिल्ली से प्रेक्िटल टेलीकॉस्ट होंगे। प्रेक्टिकल के लिए शिड्यूल बनाया गया है। कौन सा प्रेक्िटकल कब टेलीकॉस्ट होना है, इसका निर्धारण पूर्व निर्धारित शिड्यूल के जरिए तय किया जा रहा है। इसके अलावा पहले से तैयार किए गए प्रेक्टिकल को रिकॉर्ड कर लिया गया है। यह प्रेक्टिकल समय-समय पर टेलीकॉस्ट किए जाएंगे।    

छात्रों को मिलेगा आईडी व पासवर्ड : ऑन लाइन प्रेक्‍टकल से जुड़ने के लिए छात्रों को आईडी व पासवर्ड दिया जाएगा। कॉलेज के निदेशक डॉ. राजीव अग्रवाल ने बताया कि छुट्टियां खत्म होने के बाद आईआईटी दिल्ली से एक्सपर्ट कॉलेज कैंपस भेजे जाएंगे। यही एक्सपर्ट वर्चुअल लैब सेट करेंगे। प्रोग्राम के तहत कॉलेज को नोडल सेंटर में शामिल किया गया है। कॉलेज कैंपस में वर्चुअल लैब शुरू होने के बाद अन्य कॉलेज भी इससे जुड़ेगे। टेलीकास्ट होने वाले लेक्चर विवि पाठ्यक्रम व उच्च शिक्षा के लिए आयोजित प्रतियोगी परीक्षाओं को ध्यान में रखकर तैयार किए गए हैं। वर्चुअल लैब शुरू होने के साथ ही फैकल्टी मेंबर व छात्र टेलीकास्ट होने वाले उन प्रेकिटकल का शिड्यूल देख सकेंगे, जो रिकॉर्ड किए जा चुके हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कॉलेज में बैठकर आईआईटी प्रोफेसर की कक्षाएं कर सकेंगे अटैंड