DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बीएसएनएल एक्सचेंज में आग से चार सेक्टरों में संकट

शहर के चार-पांच सेक्टरों में सुबह साढ़े नौ बजे के करीब बीएसएनएल के बेसफोन अचानक चुप्पी साध गए। लोगों को लगा कि सिर्फ उन्हीं का फोन ‘डेड’ हुआ है लेकिन आसपास के अन्य उपभोक्ताओं से पूछताछ में जानकारी मिली कि हरेक का यही हाल है। बीएसएनएल एक्सचेंज परिसर में एससी के अंदर शॉर्ट सर्किट से लगी आग के कारण सेक्टर 29, 30, 28, 37 व आसपास के इलाकों में करीब चार हजार टेलीफोन बंद हो गए। साथ ही इनके ब्रॉडबैंड कनेक्शन ने भी काम करना बंद कर दिया।

बीएसएनएल के जीएम यू. एस. पांडेय ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि रविवार को सुबह करीब साढे़ नौ बजे ‘स्मोक डिटेक्टर हूटर’ की आवाज से कर्मचारियों को पता चला कि अंदर कहीं आग लगी है। जांच में पता चला कि एसी में शॉर्ट सर्किट से यह आग लगी। कर्मियों के पहुंचने तक आग ने काफी कुछ तहसनहस कर दिया था। चार हजार फोन लाइनों के हब की सारे कनेक्िटंग वायर जल गए। मौजूद संसाधनों से इन्हें बुझाने का प्रयास किया गया और फायर बिग्रेड को सूचना दी गई, लेकिन तब तक सारे तार जल गए और इससे जुड चार हजार के करीब फोन लाइनें डिस्कनेक्ट हो गए।


उन्होंने बताया कि सेक्टर 29, 30, 28 के अलावा सेक्टर 37 व आसपास के कुछ इलाकों के उपभोक्ताओं का बीएसएनएल फोन बंद हो गया है और इन इलाकों में ब्रॉडबैंड सेवा भी बंद हो गई है। सोमवार की शाम से इसके रेस्टोरेशन की संभावना है, लेकिन सारी लाइनों को पूरी तरह ठीक होने में तीन से चार दिनों तक का समय लग सकता है। इधर फायर स्टेशन ऑफिसर अभयभान पांडेय ने बताया कि गंगा शॉपिंग कॉम्पलेक्स स्थित एक्सचेंज में इस आग की वजह शॉर्ट सर्किट थी, उसपर काबू पाने से पहले ही एमडीएफ प्रभावित हो चुका था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बीएसएनएल एक्सचेंज में आग से चार सेक्टरों में संकट